Krishnamachari Srikkanth

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में सोमवार को खेले गए मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स की टीम ने महेंद्र सिंह धोनी की टीम को 7 विकेट से हराकर इस सीजन की चौथी जीत अपने नाम की. वही पूर्व भारतीय कप्तान क्रिस श्रीकांत ने महेंद्र सिंह धोनी से पूछा क्या केदार जाधव में पहले जैसे बात है? वही चेन्नई सुपर किंग्स की टीम युवा खिलाड़ियों को मौका क्यों नहीं दे रही है?

चेन्नई को मिली राजस्थान के खिलाफ 7 विकेट से हार

VRP0079

सोमवार को हुए मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम को राजस्थान रॉयल्स की टीम के आगे घुटने टेकने पड़े. वही इस मुकाबले को स्टीव स्मिथ की कप्तानी वाली राजस्थान रॉयल्स की टीम ने 7 विकेट से जीतकर इस सीजन में चौथी जीत पक्की की.

इस मुकाबले में हारने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने  पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में कहा कि

“इस सीजन के पहले 10 मुकाबलों में युवा खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया गया, वो इस लिए क्योंकि अभी भी उनके अंदर उस कदर की स्पार्क नहीं देखी जा सकती हैं. उन्होंने सोचा था कि जब हमारे लिए प्लेऑफ में पहुंचे के दौरान कठिन समय होगा तब हम युवा खिलाड़ियों को मौका देंगे. वो इसलिए उनके ऊपर जितना प्रेशर रहेंगा वो उतना ही अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे.”

शायद ये सीजन हम लोगों के नाम नहीं हैं- धोनी

Dhoni on Rayudu

उन्होंने आगे बात करते हुए कहा कि

“ये बहुत है कुछ लोगों को ऐसा भी लगेगा कि हम लोगों ने युवा खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया. लेकिन शायद ये सीजन हम लोगों के नाम नहीं हैं और हो सकता है कि हम लोगों ने अपने युवा खिलाड़ियों में स्पार्क नहीं देखा. हो सकता है कि हम उन्हें आगे मौका दे और वो आगे आने वाले मुकाबलों में बिना किसी प्रेशर के खेल सके.” 

धोनी के इस स्टेटमेंट से पूर्व भारतीय कप्तान क्रिस श्रीकांत को अच्छा नहीं लगा. उन्होंने स्टार सपोर्ट तमिल से बात करते हुए कहा कि

“इसमें कोई दोहराय नहीं है कि महेंद्र सिंह धोनी एक दिग्गज खिलाड़ी हैं. लेकिन मैं धोनी की बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूँ. उन्होंने कहा कि आप कह रहे है कि

बदलाव हो रहे है बदलाव हो रहे…लेकिन मैं इस बात से सहमत नहीं हूँ. आप बदलाव की बात करते है, लेकिन उस बदलाव में आप को सिलेक्शन करते है वही सही नहीं हैं.”

क्या केदार जाधव के पास स्पार्क है?- श्रीकांत

I thought if Richards can play shots, Why can't I?: Krishnamachari Srikkanth - The Economic Times

उन्होंने धोनी के द्वारा बोले गए स्टेटमेंट को गलत कर सकते है और इस को गलत करने के लिए मेरे पास एन जगदीशन जैसा युवा खिलाड़ी है जिसे केवल एक ही मैच दिया गया. श्रीकांत ने इसपर आगे बोलते हुए कहा कि

“जगदीशन जैसे युवा खिलाड़ी….आप कहते है कि युवा में स्पार्क नहीं हैं. क्या केदार जाधव में स्पार्क है? और क्या पीयूष चावला में स्पार्क है? बाकी आप की बाते किसी काम की नहीं है. आप बदलाव करते रहे और टूर्नामेंट आप के हाथ से निकल गया.”

“आप अब से युवा को मौका देगे खेलने का, जहा जगदीशन पहले ही अपने आप को साबित कर चुके हैं. कम से कम करण शर्मा को विकेट तो मिल रहे थे जाहे वो कितने भी मंहगे रहे हो. पीयूष चावला को आप गेंदबाजी पर तब लाते है जब मैच पूरी तरह आप के हाथो से निकल चुका था. धोनी एक दिग्गज खिलाड़ी है इसमें कोई दोहराय नहीं है लेकिन आप कह रहे है कि गेंद ग्रिप नहीं कर रही थी ये गलत है. इससे मैं सहमत नहीं हूँ.”