Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त की शाम जैसे ही सोशल मीडिया पर एक विडियो और उसके नीचे लिखते हुए कहा की 7:29 से अब मुझे लोग रिटायर माने. दरअसल महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनो फॉर्मेट को अलविदा कह दिया.

जो उनके फैन्स के लिए एक चौकाने वाली खबर थी. क्योंकि धोनी ने बिना फेयरवेल मैच खेले ही संन्यास का ऐलान कर दिया. जिसके कुछ देर बाद ही भारतीय टीम के बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी सोशल मीडिया के जरिए लिखते हुए कहा की अब से मुझे भी रिटायर ही माना जाए. महेंद्र सिंह धोनी जैसा खिलाड़ी जिसके कप्तानी में भारत ने आईसीसी की सबसे बड़ी 3 ट्रॉफीयों जीती.

लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जैसे कई और दिग्गज खिलाड़ी हैं. जिन्हें भी फेयरवेल मैच खेले बिना संन्यास लेना पड़ा. तो आज हम इस लेख के जरिए जानते हैं कि वो कौन से 5 खिलाड़ी हैं जिन्हें फेयरवेल मैच के बिना ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेना पड़ा.

1. युवराज सिंह

सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज सिंह ने बिना फेयरवेल मैच खेले ही टीम को अलविदा कह दिया था. छह गेंदों पर छह छक्के लगाना कोई बाएं हाथ का खेल नहीं हैं लेकिन युवराज सिंह जैसे बल्लेबाजो के लिए ये बाएं हाथ का खेल ही हैं.

बाएं हाथ के आलराउंडर की भूमिका निभाने वाले युवी एक धाकड़ और आक्रामक बल्लेबाज थे. युवराज सिंह ने अपने दम पर टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं. फिर जाए 2007 का टी20 विश्व कप हो या फिर 2011 का आईसीसी विश्व कप.

इस दौरान युवराज सिंह को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. लेकिन 2019 के विश्व कप में जगह ना मिलने के बाद उन्होंने 10 जून को अपने संन्यास का ऐलान कर दिया. युवी की करियर की बात की जाए तो युवराज सिंह ने 19 टेस्ट खेलते हुए 1900 रन बनाए, वनडे में 304 मैच खेले और 8701 रन जड़े. वही टी20 में 58 मैच खेलते हुए विकेट झटकने का भी रिकॉर्ड बनाया.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse