Virat Kohli R and coach Ravi Shastri 16db0dd0389 large 1

भारतीय टीम इस समय ऑस्ट्रेलिया दौरे पर है. जहाँ पर पहले एकदिवसीय सीरीज में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. तो वहीँ टी20 सीरीज में भारत ने जीत दर्ज किया, लेकिन टेस्ट सीरीज में जब भारतीय टीम ने शुरुआत की तो सभी को बहुत उम्मीदें थी. एडिलेड टेस्ट में जो उम्मीदें टूट गयी.

अब मेलबर्न के मैदान पर भारतीय टीम वापसी करने के बारें में सोच रही है. अगर ये वापसी नहीं होती है और भारतीय टीम ये दौरा 4-0 से हार जाता है तो फिर मुश्किलें टीम मैनेजमेंट की बढ़ जाएगी. ऐसे में किसी एक पर गाज करने के मौके भी अपने आप बढ़ जायेंगे.

आज हम आपने लेख में ये बताने वाले हैं की भले ही भारतीय टीम ये दौरा 4-0 से हार जाएँ लेकिन उसके बाद भी बीसीसीआई के एक्शन की तलवार मुख्य कोच रवि शास्त्री पर नहीं बल्कि इस सहायक कोच पर पड़ सकती है. जिन्हें अपने नौकरी से हाथ धोना पड़ जायेगा.

फील्डिंग कोच पर चल सकती है तलवार

TH20SRI

इस दौरे पर यदि भारतीय टीम की गलतियों पर बात करें तो फिर सबसे बड़ी गलती के रूप में टीम की फील्डिंग ही नजर आती है. एक समय बहुत ही शानदार फील्डिंग यूनिट होने का दावा करने वाली भारतीय टीम अब इसी फ़ील्डिंग के वजह से ही आलोचना का शिकार बन रही है. फील्डिंग कोच की भूमिका मौजूदा समय में आर श्रीधर निभा रहे हैं.

जिसके कारण ही कहा जा सकता है की यदि बीसीसीआई ने ख़राब दौरा जाने की वजह से भारतीय टीम मैनेजमेंट पर एक्शन लिया तो फिर सबसे पहले गाज आर श्रीधर पर ही गिरेगी. मौजूदा कोच रवि शास्त्री कप्तान विराट कोहली के पसंदीदा है. जिसके कारण भी उनपर एक्शन लिया जाना मुश्किल नजर आता है.

पहले भी हुआ है कुछ ऐसा ही फैसला

sanjay bangar 1542728161

जब भारतीय टीम विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल में हार गयी तो फिर उसके बाद भी कोचिंग स्टाफ को बदलने की चर्चा चलने लगी थी. बीसीसीआई द्वारा सवाल पूछे जाने की बात हुई थी. जिसके बाद भी दोबारा रवि शास्त्री को भारतीय टीम का मुख्य कोच बना दिया गया.

बल्लेबाजी कोच को छोड़कर सभी को दोबारा टीम में रहने का मौका मिल गया. धोनी को नंबर 7 पर भेजने के फैसले को संजय बांगर का बताया गया.जिसके बाद उन्हें भारतीय टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. इसपर भी कुछ ऐसे ही छोटे एक्शन की उम्मीद की जा रही है.