शुभमन गिल

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने मजबूती से वापसी की और मैच को 317 रनों से जीतकर अपने नाम कर लिया। इस मैच में भारत के कई खिलाड़ियों ने जीत में अहम योगदान दिया। लेकिन कप्तान विराट कोहली ने स्टैंड्स में लौटे दर्शकों की वापसी को लेकर खुशी जताई और उन्हें इस मैच का बड़ा फैक्टर भी करार दिया।

दर्शकों ने बढ़ाया उत्साह

विराट कोहली

इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के साथ भारत में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई और साथ ही साथ दूसरे टेस्ट मैच में 50 प्रतिशत कैपिसिटी के साथ दर्शकों की भी स्टैंड्स में वापसी हुई। इस बात में कोई शक नहीं है कि दर्शकों के स्टैंड में होने से किसी भी खेल में चार चांद लग जाते हैं और जब बात होती है क्रिकेट की तो फैंस, इस खेल की आन-बान और जान हैं। कप्तान विराट कोहली ने भी पोस्ट मैच सेरेमनी में दर्शकों को फैक्टर बताते हुए कहा,

“पहले टेस्ट मैच में घर पर खेलते हुए स्टैंड को खाली देखना थोड़ा अजीब था। ईमानदारी से कहूं तो, हमने शुरुआत के दो दिनों में हमें मैदान से ऊर्जा नहीं मिली थी। लेकिन पहली पारी के बाद दूसरी पारी में हमने अपनी बॉडी लैंग्वेस को काफी बेहतर कर लिया। वाकई स्टैंड में लौटे फैंस इस मैच का बड़ा फैक्टर रहे। यह मैच इस टीम को दिखाने वाले धैर्य और दृढ़ संकल्प का एक उदाहरण था और भीड़ इसका एक बड़ा हिस्सा है।”

“चेन्नई का क्राउड काफी बुद्धिमान है, वे क्रिकेट को अच्छी तरह समझते हैं। जहां, गेंदबाजों को क्राउड के समर्थन की जरुरत होती है, वहां सभी को शामिल करना मेरी जिम्मेदारी थी। अगर मैं गर्मी में गेंदबाजी करने के लिए दौड़ रहा होता है, तो मुझे मैं चाहूंगा कि क्राउड मुझे प्रेरित करे।यह हमारे लिए एक आदर्श मैच था।”

टॉस नहीं रखता अधिक मायने

जहां, पहले टेस्ट मैच में टॉस को जीत के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा था, वहीं दूसरे टेस्ट मैच में कप्तान विराट कोहली ने साफ कर दिया कि इस मैच में टॉस का उतना बड़ा योगदान नहीं था। उन्होंने मैच की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के बारे में कहा,

“दोनों टीमों के लिए परिस्थितियां चुनौतीपूर्ण थीं, लेकिन हमने बल्ले के साथ अधिक अच्छा प्रदर्शन किया। हम टर्न और बाउंस को देखकर घबराए नहीं, हमने धैर्य दिखाया, खेल में उतरे और 600 रन बना दिए। हम जानते हैं कि अगर हम इन रनों को डालते हैं तो हमारे गेंदबाज हमारे लिए अच्छा काम करेंगे। ईमानदारी से कहूं तो, इस मैच में टॉस ज्यादा मायने नहीं रखता था, क्योंकि अगर आप हमारी दूसरी पारी को देखें, तो हमने लगभग 300 रन बनाए। यदि टॉस किसी भी तरह से हुआ तो यह अनुचित नहीं था। “

ऋषभ पंत और अक्षर पटेल की तारीफ

विराट कोहली

भारत के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने इस मैच में अच्छी बल्लेबाजी तो की ही, साथ ही साथ उन्होंने अच्छी विकेटकीपिंग भी की, जिसके लिए उन्हें अक्सर सवालों के घेरे में रहना पड़ता है। कप्तान विराट कोहली ने पंत की विकेटकीपिंग में सुधार के बारे में बात करते हुए कहा,

“ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया में वास्तव में कड़ी मेहनत की है, अब आप उनकी विकेटकीपिंग के दौरान उनके रिएक्शन में अंतर देख सकते हैं। उन्होंने काफी वजन कम किया है और खुद पर काफी मेहनत भी की है। यह इस बात से ही पता चलता है कि वह इतने टर्न और बाउंस वाली पिच पर भी अच्छी कीपिंग कर रहे थे, इसके लिए उन्हें श्रेय जाता है। हम चाहते हैं कि वह एक कीपर के रूप में सुधार करते रहें क्योंकि हम जानते हैं कि वह टीम के लिए बेहद खास हैं।”