India vs Sri Lanka ODI
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत-श्रीलंका (India vs Sri Lanka) के बीच खेले गए तीसरे मुकाबले में शिखर धवन की कप्तानी वाली टीम में एक साथ 6 बदलाव कर दिए गए. अंतिम मैच में 5 युवा खिलाड़ियों को डेब्यू करने का मौका दे दिया गया. लेकिन एक साथ किए ये सारे एक्पेरिमेंट धरे के धरे रह गए और टीम को जो हार मिली उससे लोगों को सिर्फ निराशा ही हाथ लगी की. भारतीय पारी के दौरान अचानक से पहले बारिश ने खलल डाला.

इसके बाद भारत (India) के बल्लेबाज निर्धारित किए गए पूरे ओवर भी नहीं खेल सके और सिर्फ 41.1 ओवर में पूरी टीम 225 रन पर डेर हो गई है. जिसके जवाब में उतरी लंकाई टीम में 227 (DLS) रन को 39 ओवर में हासिल करते हुए इस मुकाबले को 3 विकेट से जीत लिया. इस खास रिपोर्ट में हम उन तीन बड़ी गलतियों के बारे में बात करने जा रहे हैं, जिसके कारण भारतीय टीम को तीसरा मुकाबला गंवाना पड़ा.

1. एकसाथ 6 बदलाव टीम पर पड़ा भारी

India

वनडे सीरीज पर 2-0 से अजेय बढ़त के साथ तीसरे मैच में टीम इंडिया कई बदलाव के साथ उतरी. 5 खिलाड़ियों को डेब्यू का मौका दिया गया. तो वहीं संजू सैमसन को ईशान किशन की जगह उतारा गया था. डेब्यू करने वालों की लिस्ट में नीतीश राणा से लेकर कृष्णप्पा गौथम, नवदीप सैनी, राहुल चाहर, चेतन साकरिया थे.

जिस उद्देश्य से भारत (India) इस मुकाबले में 6 बदलाव के साथ उतरा था, उससे खिलाड़ी पूरी तरह भटके हुए नजर आए. जिसका नतीजा ये हुआ कि टीम को 3 विकेट से करारी शिकस्त का सामना कना पड़ा. कहीं ना कहीं मैनेजमेंट का एक साथ 6 बदलाव करने का फैसला उन्हीं पर भारी पड़ गया.

क्योंकि आधे दर्जन अनुभवी खिलाड़ियों को बेंच पर आराम करने के लिए बिठा दिया गया और मुकाबले की जिम्मेदारी गैरअनुभवी खिलाड़ियों पर डाल दिया गया. इसके परिणाम टीम को हारकर चुकाना पड़ा. एक साथ 6 बदलाव भारतीय मैनेजमेंट की सबसे बड़ी गलती थी. जिसके कारण अंतिम मैच में क्लीन स्वीप के मकसद पर पानी फिर गया.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse