WTC

दो साल से जिस टूर्नामेंट का इंतजार था। आखिर उसका भी समय आ गया। भारत (India) और न्यूजीलैंड (New Zealand) के बीच विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल मैच शुरू हो चुका है। जिसमें टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम बड़ा स्कोर नहीं बना सकी है। उनकी पहली पारी सिर्फ 217 रनों पर ही सिमट चुकी है।

 आलम यह रहा कि टीम के अंतिम 7 विकेट सिर्फ 68 रन पर ही गिर गए। अजिंक्य रहाणे के बल्ले से टीम के लिए सबसे ज्यादा 49 रन निकले हैं। वहीं दूसरी तरफ मैच के तीसरे दिन कीवी गेंदबाज हावी रहे। तेज गेंदबाज काइल जैमिसन ने अकेले ही पांच भारतीयों के विकेट हासिल कर लिए। 

न्यूजीलैंड के खिलाफ India का रहा है ख़राब प्रदर्शन

WTC India

Indian Team ने इस बार पहली पारी में 217 रन बनाए हैं। जो बहुत ही कम स्कोर है। वैसे यह पहली बार नहीं है जब ऐसा हुआ है। भारतीय टीम का रिकॉर्ड कीवी टीम के सामने ख़राब ही रहा है। टीम 20वीं बार 250 का आंकड़ा पार नहीं कर सकी है। ऐसे में अगर टीम को मैच जीतना है तो अविश्वसनीय प्रदर्शन करना होगा। 

भारतीय टीम ने जब भी 250 से कम का स्कोर पहली पारी में न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाया है। उनमें से 7 मैच वो हारे हैं और 10 मैच दोनों के बीच ड्रा रहे हैं। इस दौरान इंडिया को सिर्फ 2 मैचों में जीत मिली है। 20वां मैच अभी खेला जा रहा है। अब ऐसे में देखना होगा की टीम India क्या चमत्कार करती है। वैसे अगर बारिश नहीं होती है तो मैच का नतीजा तो निकल ही आएगा।

दोनों मैच घर में ही जीती है टीम India

cheteshwar pujara

Indian Team ने इस फाइनल मैच में 217 रन बनाए हैं। जो कि कीवी बल्लेबाजों के लिए बड़ी बात नहीं है। टीम इंडिया ने आखिरी बार जब 250 से कम का स्कोर बनाने के बाद न्यूजीलैंड को मात दी थी वह साल था 1995। 1995 में बेंगलुरु में खेले गए टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में 228 रन बनाए थे। जवाब में न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी में 145 और दूसरी पारी में 233 रन ही बना सका था। यह मैच भारत ने 8 विकेट से जीता था। 

इसके अलावा जो दूसरा मैच उनके खाते में दर्ज है वह खेला गया था 1969 में मुंबई के मैदान पर। जिसमें India ने पहली पारी में सिर्फ 156 रन ही बनाए थे। इस बाद से 250 से कम रन होने पर भारत कभी मैच नहीं जीत सका है। वहीं कीवी तेज गेंदबाज काइल जैमिसन का यह कुल 8वां ही मैच है। जिसमें उन्होंने पांचवीं बार 5 विकेट झटके हैं। इसी के साथ उनके कुल विकेटों की संख्या 44 तक पहुंच चुकी है। इसी के साथ यह किसी भी कीवी गेंदबाज का पहले 8 मैचों में सबसे बेतरीन प्रदर्शन है।