IND vs NZ

IND vs NZ 2021: 3 टी20 मैचो की सीरीज के बाद भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेली जाने वाली 2 टेस्ट मैचो की सीरीज का पहला मुकाबला कानपूर ने ग्रीनपार्क स्टेडियम में शुरू हो गया है. आज पहले दिन का खेल ख़तम होने तक, टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी कर रही भारतीय टीम ने 4 विकेट के नुकसान पर 258 रन बनाकर एक मजबुत स्थिति में पहुँच चुकी है. भारतीय टीम के लिए अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) 75 रन बनाकर नाबाद है तो वही दुसरे छोर पर रविन्द्र जडेजा (Ravindra Jadeja) भी नाबाद 50 रन बनाकर खेल रहे है.

एक समय 145 रनों पर 4 विकेट गवां चुकी भारतीय टीम मुश्किल में फसती दिख रही थी. लेकिन अपना डेब्यू कर रहे श्रेयस अय्यर और जडेजा मिलकर टीम को संभाला और एक मजबुत स्थिति में पहुंचाया. दोनों ने मिलकर पांचवे विकेट के लिए नाबाद 113 रनों की साझेदारी की है. अब शुक्रवार को मैच के दुसरे दिन का खेल शुरू होगा तो भारतीय टीम इस स्कोर को एक बड़े स्कोर तक ले जाने की कोशिश करेगी. ऐसे में अगर भारतीय टीम खेल के दुसरे दिन ये 3 काम करने में सफल हो जाती है. तो उन्हें इस मैच को जीतने से कोई नहीं रोक सकता.

दुसरे दिन अगर हो गए ये 3 काम तो जीत है पक्की

पहला घंटा होगा काफी अहम

IND vs NZ

IND vs NZ : किसी भी टेस्ट मैच के दिन का पहला घंटा काफी अहम् होता है. सभी खिलाड़ी तरोताजा होकर मैदान पर वापस आते है. तो वही सुबह के समय में गेंद भी अपना कमाल दिखाने का कोई भी मौका नहीं छोड़ती है. ऐसे में श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) और रविन्द्र जडेजा (Ravindra Jadeja), दोनों भारतीय बल्लेबाजों को थोड़ा संभल कर बल्लेबाजी करना पड़ेगा. हालाँकि दोनों बल्लेबाज अर्धशतक लगाकर बल्लेबाजी कर रहे है. और पूरी तरह से सेट हो चुके है. लेकिन ब्रेक के बाद अपनी पारी क बढ़ाना हमेशा मुश्किल होता है.

भारतीय बल्लेबाजों की कोशिश यही रहेगी कि, इस स्कोर को कम से कम 400-450 रनों तक पहुंचाया जाए. इन दोनों बल्लेबाजों के बाद विकेटकीपर बल्लेबाज ऋधिमान साहा (Wridhiman Saha), रविचंद्रन आश्विन (Ravichandran Ashwin) और अक्षर पटेल (Axar Patel) का आना बाकी है. ये सभी बल्लेबाज इन परिश्थितियों में अच्छी बल्लेबाजी करने का माद्दा रखते है. ऐसे में अगर भारतीय बल्लेबाजों ने दिन का पहला घंटा संभाल लिया तो वो आराम से अच्छे स्कोर तक पहुँच जायेंगे.

तेज गेंदबाजों पर होगी शुरूआती विकेट दिलाने की जिम्मेदारी 

IND vs NZ

IND vs NZ : वैसे तो कानपूर की इस पिच से अभी तक गेंदबाजों के लिए कोई ख़ास मदद नहीं मिली है. लेकिन न्यूजीलैंड के दोनों तेज गेंदबाज, काइल जेमिसन (Kyle Jemminson) और टिम साऊदी (Tim Southee) ने इस चीज को साबित कर दिया कि, अगर आप अच्छी लाइन पर लगातार गेंदबाजी करते है तो आप विकेट लेने में सफल हो सकते है. इस मैच में अभी तक चारो विकेट तेज गेंदबाजों के खाते में गए है. जेमिसन ने 3 विकेट हासिल किये हैं तो वही साऊदी के खाते में पुजारा का बड़ा विकेट शामिल रहा.

भारतीय पारी के ख़तम होने के बाद कप्तान अजिंक्य रहाने अपने तेज गेंदबाजों से यही उम्मीद कर रहे होंगे कि, इशांत शर्मा (Ishant sharma) और उमेश यादव (Umesh Yadav) टीम को शुरूआती सफलता दिलाये. दोनों ही गेंदबाजों के पास अच्छी-खासी स्पीड है और दोनों के ही पास इन परिश्थितियों में खेलने का अच्छा ख़ासा अनुभव है.

विलियमसन का विकेट होना काफी अहम

IND vs NZ

IND vs NZ : इस मैच में भारतीय टीम के हार और जीत के बीच में सबसे बड़ा अंतर जो पैदा कर सकती है, वो है न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) की बल्लेबाजी. विलियमसन आज के दौर के सबसे अच्छे बल्लेबाजों में से एक है. और उन्हें आईपीएल में हिस्सा लेने के कारण उन्हें इन परिस्थितियों का भी अच्छ ख़ासा अनुभव है. भारतीय टीम के खिलाफ दायें हाथ के इस बल्लेबाज का प्रदर्शन काफी निखर कर सामने आता है. भारतीय टीम के खिलाफ खेले 12 मुकाबलों की 22 पारियों में विलियमसन ने कुल 829 रन बनाये है.

बात अगर विलियमसन (Kane Williamson) के पुरे टेस्ट करियर कि की जाए तो उन्होंने अभी तक कुल 85 मुकाबलों की 148 पारियों में कुल 7230 रन बना चुके है. ऐसे में रविचंद्रन आश्विन, अक्षर पटेल और रविन्द्र जडेजा की स्पिन तिकड़ी पर खासी जिम्मेदारी रहेगी. अगर भारतीय टीम विलियमसन का विकेट सस्ते में निकलने में सफल होती है तो उन्हें पहली पारी में अच्छी खासी बढ़त लेने का मौका रहेगा जो कि अंत में मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हो सकता है.