आज बुधवार, 1 नवम्बर को दिल्ली के फिरोज शाह कोटला के मैदान में भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन टी ट्वेंटी मैचों की श्रृंखला का पहला मुकाबला खेला गया. जहाँ वनडे श्रृंखला में मिली ऐतिहासिक जीत के सफ़र को मेजबान टीम इंडिया ने दिल्ली में भी जारी रखा और पहला मुकाबला पूरे 53 रनों से जीतकर अपने नाम किया.

शानदार रहा मुकाबला 

कोटला T-20I की शुरुआत किवी टीम के कप्तान केन विलियम्सन के टॉस जीतने के साथ हुई और उन्होंने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करना ज्यादा बेतार समझा. मगर यह उनकी सबसे बड़ी भूल रही. भारतीय टीम ने पहले खेलने का फायदा को बुनाया और अपने निर्धारित 20 ओवर के खेल में मात्र तीन विकेट के नुकसान पर 202 रनों का स्कोर बनाया.

टीम के लिए दोनों सलामी बल्लेबाज उपकप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन ने 80 80 रनों की जोरदार पारियां खेली. इन दोनों की बल्लेबाजी के सामने न्यूजीलैंड की टीम के गेंदबाज पानी भर रहे थे.

मेहमान टीम को मैच जीतने के लिए 203 रनों का एक बड़ा स्कोर मिला, लेकिन टीम अपने 20 ओवर के खेल में आठ विकेट के नुकसान पर सिर्फ 149 रनों ही बना सकी. टीम के लिए टॉम लाथम 39 ने सबसे ज्यादा रन बनाये. भारतीय टीम के लिए स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल ने दो दो विकेट झटके.

जीत के बाद क्या बोले किवी कप्तान 

मैच हारने के बाद न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियम्सन ने प्रेजेंटेशन सेरेमनी में संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा, कि

”आज हमारी टीम ने वाकई में बेहद ही निराशाजनक प्रदर्शन किया. खासतौर पर फील्डिंग में.. इस बात में कोई भी शक नहीं हैं, कि भारतीय टीम ने बेहतरीन खेल दिखाया. हमे और बेहतर करने की जरूरत हैं. भारतीय टीम ने आज कमाल का खेल दिखाया और हमे कोई मौका ही नहीं दिया. हमारे स्पिन गेंदबाजो ने अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन हम रनों पर लगाम नहीं लगा सके.”

नेहरा को दी बधाई आप सभी को एक बार फिर से बता दे, कि यह आशीष नेहरा के करियर का अंतिम मुकाबला रहा. अब नेहरा जी कभी भी देश के लिए खेलते हुए नहीं दिखाई देगे.

केन विलियम्सन ने आशीष नेहरा को लेकर अपने बयान में कहा, कि

”मैं आशीष नेहरा को उनके शानदार करियर के लिए बधाई देना चाहता हूँ. मैं उनके साथ भी खेला और उनके विरुद्ध भी… वाकई में वह एक जेंटलमैन खिलाड़ी और इन्सान हैं…”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *