rahul dravid

मुंबई के वानखेडे़ स्टेडियम में 372 रनों से मिली जीत के साथ भारतीय टीम ने सीरीज को 1-0 से अपने नाम कर लिया है। यकीनन ये भारतीय टीम के लिए बड़ा खुशी का मौका है। उन्होंने घरेलू सरजमीं पर ये लगातार 14वीं सीरीज जीती है। हालांकि इस जीत के बाद अब भारतीय टीम मैनेजमेंट व चयनकर्ताओं के लिए आगे साउथ अफ्रीका दौरे के लिए टीम को चुनना आसान नहीं होने वाला है। इसपर Rahul Dravid का मानना है कि ये एक मीठा सिर दर्द होने वाला है।

Rahul Dravid ने की खिलाड़ियों की तारीफ

Jayant Yadav-R Ashwin

टीम इंडिया ने संयुक्त प्रदर्शन करते हुए टेस्ट सीरीज को जीत लिया है। इसमें श्रेयस अय्यर, मयंक अग्रवाल, अक्षर पटेल, अश्विन, सिराज जैसे कई खिलाड़ियों ने मैच विनिंग प्रदर्शन किया। सीरीज जीतने के बाद हेड कोच Rahul Dravid ने खिलाड़ियों को श्रेय देते हुए जमकर तारीफ की। पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में उन्होंने कहा,

”आगे बढ़कर शानदार करने वाले खिलाड़ियों को इसका श्रेय जाता है। जयंत यादव ने आज शानदार खेल दिखाया है। हालांकि, कल का दिन उनके लिए मुश्किल रहा था। लेकिन उन्होंने इससे सीखा और आज बेहतर किया। मयंक अग्रवाल, श्रेयस अय्यर, मोहम्मद सिराज, जिन्हें ज्यादा मौके नहीं मिलते, उन खिलाड़ियों ने बहुत अच्छा किया। अक्षर ने दिखाया कि वह बल्ले से क्या कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने जिस तरह पूरी सीरीज में गेंदबाजी की, उसे देखकर बहुत अच्छा लगा। यह हमें बहुत सारे विकल्प भी देता है, हमें एक मजबूत पक्ष बनने में मदद करता है।”

क्यों नहीं दिया फॉलोऑन?

पहली पारी में भारत ने 325 रन बनाए थे और कीवी टीम को 62 के मामूली स्कोर पर ऑलआउट कर दिया था। पहली पारी के आधार पर भारत के पास 250+ रनों की बढ़त थी, लेकिन टीम ने फॉलोऑन नहीं दिया। बल्कि बल्लेबाजी करने का फैसला किया। टीम द्वारा फॉलोऑन ना देने के फैसले पर Rahul Dravid ने कहा,

 ”हमें पता था कि हमारे पास काफी समय है, हमने फॉलोऑन के बारे में ज्यादा नहीं सोचा। टीम में काफी युवा बल्लेबाज भी थे, इसलिए हम उन्हें ऐसी परिस्थितियों में बल्लेबाजी करने का मौका देना चाहते थे। जानते थे कि हम भविष्य में ऐसी स्थितियों में हो सकते हैं, जहां हमें कठिन परिस्थितियों में ऐसा करने के लिए मजबूर करना पड़ सकता है तो यह एक बड़ा मौका था। यह हमारे खिलाड़ियों के विकास में मदद करने के लिए बहुत अच्छा था।”

अच्छा सिर दर्द है

rahul dravid team iindia vs new zealand
shreyas iyer, team iindia vs new zealand

न्यूजीलैंड सीरीज में अनुभवी खिलाड़ियों के चोटिल होने के चलते युवा खिलाड़ियों को मौका मिला। अब चूंकि इन खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। तो यकीनन आगामी साउथ अफ्रीका दौरे के लिए टीम मैनेजमेंट, चयनकर्ताओं के लिए स्क्वाड का चयन करना आसान नहीं होने वाला है। Rahul Dravid ने इसे अच्छा सिर दर्द बताते हुए कहा,

”यह एक अच्छी स्थिति है, हमारे सीनियर खिलाड़ी चोटिल हैं। ऐसे में हमें अपने खिलाड़ियों को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रबंधित करने की आवश्यकता है। यह मेरी चुनौती का एक बड़ा हिस्सा होने जा रहा है, चयनकर्ताओं और नेतृत्व समूह के लिए भी चुनौती है। यह एक अच्छा [चयन] सिर दर्द है, देखें कि युवा लड़के अच्छा प्रदर्शन करते हैं। उनमें अच्छा करने की बहुत इच्छा है और सभी एक-दूसरे से आगे निकल रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि जब तक हमारे पास स्पष्ट बातचीत है और हम खिलाड़ियों को समझा पाते हैं तो इसे कोई समस्या क्यों नहीं लगती है।”