भारतीय टीम बीते 1 अगस्त से इंग्लैंड के विरुद्ध पहला टेस्ट मुकाबला खेल रही है। इस टेस्ट मैच में भारतीय टीम के टेस्ट की रीढ़ की हड्डी माने जाने वाले चेतेश्वर पुजारा की जगह फॉर्म में चल रहे केएल राहुल को टीम में जगह दी गई ।

मंगलवार को राहुल को टीम में जगह देने पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज माइक हसी ने कहा कि पुजारा को भारतीय टीम से बैठाने का मतलब हैं कि भारतीय टीम की बल्लेबाजी काफी मजबूत हैं । पुजारा जैसे बल्लेबाज को टीम से बाहर रखना इस तरफ बिल्कुल इशारा करता हैं।

उन्होंने यह भी कहा

“के एल राहुल को टीम में रखने का सबसे बड़ा कारण हो सकता हैं उनका मौजूदा फॉर्म, जो कि पुजारा से काफी अच्छा हैं। ऐसा कई टीमों में देखा गया हैं की टेस्ट खिलाड़ी को बैठा इन्फॉर्म बल्लेबाज को मौका दिया जाए।

पहली पारी में नहीं चला राहुल का बल्ला

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच से पूर्व भारत के हेड कोच रवि शास्त्री ने यह कहा था कि टीम की प्लेइंग 11 में मैं कुछ चौंकाने वाले निर्णय ले सकता हूँ। पुजारा को आराम दे राहुल को मौका देना कुछ ऐसा ही था। पुजारा भारतीय टीम के बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। पहली पारी में राहुल ने मात्र 4 रन ही बनाए ।

भारत के ऑस्टेलिया दौरे पर भी हसी ने की टिप्पणी

बेंगलुरु में चल रहे कर्नाटक प्रीमियर लीग के दौरान रिपोर्टर से माइक हसी ने यह भी कहा की “भारत के पास इस बार ऑस्ट्रलिया में पहली टेस्ट सीरीज जीतने का अच्छा मौका हैं। “

भारत का सामना एक कमजोर बैटिंग वाली ऑस्ट्रेलियन टीम का सामना करेगी जो कि बिना वार्नर और स्मिथ के मैदान में उतरेगी। मैं ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी को ले थोड़ा परेशान भी हूँ । यह भारत के लिए बहुत अच्छा मौका हैं।

माइक हसी ने यह भी कहा कि भारतीय बल्लेबाजों को फिर भी अच्छा खेल दिखाना पड़ेगा। हैजलवुड, स्टार्क, पेट कमिंस और लयोंन फिट और असरदार गेंदबाज हैं। इनका सामना भारतीय बल्लेबाजों को संभल कर करना होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *