विश्व कप का 12वां संस्करण इंग्लैंड और वेल्स मे खेला जा रहा था. इस बार भारतीय टीम विश्व कप की प्रबल दावेदार दिख रही है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का जादू इस बार भी बरकरार है, इंग्लैंड के खिलाफ उनके प्रदर्शन को लेकर उनको काफी ट्रोल किया गया. पर इन सब से उनके फैन बेस पर कोई फर्क नहीं पड़ा. अब तो बॉलीवुड स्टार ऋतिक रोशन ने भी  इस विश्व कप स्क्वाड मे अपने चहेते क्रिकेटर का नाम बता दिया है.

ऋतिक रौशन और उनकी माँ के चहेते खिलाड़ी है महेंद्र सिंह धोनी

इस बात मे तो कोई शक नहीं है की 38 वर्ष के महेंद्र सिंह धोनी के फैन बेस सबसे ज्यादा है. इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए मैच में बॉलीवुड स्टार ऋतिक रौशन स्टार स्पोर्ट्स में शामिल हुए, इस शो मे उन्होंने बताया की उनको और उनकी मां को भारतीय क्रिकेट टीम मे महेंद्र सिंह धोनी बहुत पसंद है.

ऋतिक रोशन ने स्टार स्पोर्ट्स के हवाले से कहा कि

“मैं और मेरी माँ, हम महेंद्र सिंह धोनी को बहुत पसंद करते हैं. मुझे लगता है कि वह बहुत अच्छे टीचर हैं, वह एक महान विचारक हैं. मेरी माँ बहुत खुश होंगी कि मैंने उनका नाम लिया है. मुझे लगता है कि वह बहुत ही प्रेरणादायक, सुलझे हुए  और एक योजनाकार हैं.”

ऋतिक रोशन  ने साझा की अपनी क्रिकेट से जुड़ी यादें

ऋतिक रौशन बॉलीवुड का वो सितारा है जिसने 2000 में ‘कहो ना प्यार है’ से बॉलीवुड में अपना डेब्यू करने के बाद हरदम से बुलंदियों को छुआ है. ऋतिक ने 2011 विश्व कप के भारत-इंग्लैंड मैच की एक याद को साझा करते हुए बताया.

एक बार जब वह और शाहरूख खान कभी ख़ुशी कभी गम फिल्म की शूटिंग कर रहे थे तब वह एक कार में बैठ कर एक मैच की शूटिंग ससून रहे थे और संयोग से वो मैच भारत और इंग्लैंड के बीच ही खेला जा रहा था.

ऋतिक ने कहा कि

“मुझे याद है कि मैं स्टेडियम में जाकर खेल देखने की योजना बनाई थी, लेकिन कुछ अंतिम समय के काम की वजह से मैं ऐसा नहीं कर सका,लेकिन अपना काम पूरा करने के बाद मैंने अपने परिवार के साथ अपने घर में आखिरी ओवर देखा और हमने वास्तव में शानदार जीत का आनंद लिया”

महेंद्र सिंह धोनी को क्यों किया जा रहा है ट्रोल

ऋतिक रोशन

महेंद्र सिंह धोनी ने इस विश्व कप मे लोगों की उम्मीद के हिसाब से प्रदर्शन नहीं दिखाया, धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पारी की शुरुआत थोड़ी धीमी की थी और यही कारण है की आलोचकों को लगता है कि भारत के मैच हारने का कारण महेंद्र सिंह धोनी की धीमी पारी है.

वह लोग यह समझने के तैयार हैं ही नहीं की धोनी 38 वर्ष के खिलाड़ी हैं और उन्होंने भले ही धीमी शुरुआत की हो पर इस विश्व कप मे मैच विनिंग परफॉरमेंस उनकी ही रहती है.