harmanpreet-kaur-smriti-mandhana-women-t20-challenger-1602254360

गोल्ड कोस्ट में खेले गए दूसरे टी-20 मुकाबले में भारतीय महिला टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथो चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा. इस हार के बाद एक बार फिर महिला आईपीएल का सुर तेज हो गया. इसमें अब एक और नया नाम वर्तमान समय में भारतीय टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर का जुड़ गया है. आईपीएल 2021 के लीग मुकाबलें समाप्त हो गए है. अब रविवार से प्लेऑफ के मुकाबलें खेले जायेंगे.

आईपीएल से एक बार फिर कई सारे युवा टेलेंट उभरकर सामने आये है.चाहे वो ऋतुराज गायकवाड़ हों या अर्शदीप सिंह और आवेश खान…या फिर राहुल त्रिपाठी और वेंकटेश अय्यर. इन नए खिलाड़ियों को भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम का भविष्य बताया जा रहा है. टीम इंडिया का वर्तमान भी काफी मजबूत है और इसमें आईपीएल का भी बड़ा योगदान है. लेकिन भारत में महिला क्रिकेट के हालात इससे अलग है.

महिला आईपीएल होने से टीम के खिलाड़ियों को अच्छा अनुभव मिल सकेगा : हरमनप्रीत कौर

harmanpreet kaur

पिछले कुछ समय से विश्व क्रिकेट की अलग-अलग मशहूर और सम्मानित आवाजें महिला आईपीएल की मांग कर रही हैं. भारतीय क्रिकेट के अंदर से इस तरह की मांग दबी आवाजों में उठ रही थी, लेकिन शनिवार को मिली हार के बाद खुद कप्तान हरमनप्रीत ने बोल दिया कि महिला आईपीएल होने से टीम के खिलाड़ियों को अच्छा अनुभव मिल सकेगा. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गोल्ड कोस्ट में दूसरे टी20 मैच में हरमनप्रीत की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने खराब बल्लेबाजी के बावजूद दमदार गेंदबाजी से जीत की उम्मीद जगाई थी, लेकिन नाजुक मौकों पर टीम नियंत्रण नहीं रख सकी और जीत हाथ से फिसल गई.

हरमनप्रीत ने महिला टीम के विकास में आ रही रुकावट के लिए आईपीएल के न होने को एक वजह बताते हुए कहा,

“मुझे लगता है कि फिलहाल यही एक कारण है, जहां हम कमजोर हैं. अगर हमें अंतरराष्ट्रीय मैचों से पहले अच्छे स्तर का घरेलू क्रिकेट खेलने को मिले, तो हम निश्चित रूप से एक टीम के रूप में और सुधार कर सकेंगे.”

पुरुष क्रिकेट को मिलता है आईपीएल से फायदा

IPL Trophy 1

गोल्ड कोस्ट में टीम की 4 विकेट से हार के बाद हरमनप्रीत कौर ने आईपीएल और इससे भारतीय पुरुष क्रिकेट पर पड़े असर का उदाहरण देते हुए कहा,

“जब से आईपीएल जैसा मंच मिला है, तब से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे युवा पुरुष खिलाड़ी अपने प्रदर्शन में परिपक्वता दिखाते हैं, क्योंकि उनके पास 40-50 आईपीएल मैचों का अनुभव रहता है, जहां उन्होंने शायद अच्छा क्रिकेट खेला हो और अपनी टीम के लिए मैच भी जीते हों.”

2 साल पहले शुरू हुआ था महिला चेलेंजर्स टी-20 टूर्नामेंट

trailblazers vs supernovas

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने पिछले दो आईपीएल सीजनों में महिला आईपीएल के नाम पर आईपीएल सीजन के दौरान ही 3 टीमों वाले चैलेंजर टूर्नामेंट का आयोजन किया था, जो आईपीएल प्लेऑफ मुकाबलों के दौरान खेले जाते हैं. सिर्फ 4 मैचों में ही पूरा टूर्नामेंट खत्म हो जाता है. इस साल वह भी आयोजित नहीं हो सका. वहीं ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में महिलाओं के लिए बिग बैश और टी20 ब्लास्ट जैसे टूर्नामेंट हैं, जिसमें कई खिलाड़ी खेलती हैं. भारतीय टीम की भी कुछ खिलाड़ियां इनमें खेल चुकी हैं और 14 अक्टूबर से शुरू हो रहे वीमेन्स बिग बैश लीग में इस बार 8 भारतीय खिलाड़ी अपना दम दिखाएंगी, जिससे आने वाले वक्त में टीम को और मजबूती मिलेगी.