harmanpreet Kaur

Harmanpreet Kaur: आईसीसी महिला वर्ल्ड कप के आगाज से पहले टीम इंडिया को बड़ी खुशखबरी मिली है। वुमन टीम इंडिया की कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) अपनी पुरानी विस्फोटक फॉर्म में वापस नजर आ रही हैं। उनका बल्ला पिछले कुछ समय खामोश था लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के आखिरी मैच में उन्होंने अर्धशतक लगाया और फिर साउथ अफ्रीका के खिलाफ वॉर्मअप मैच में हरमन ने शतक ठोका। ऐसे में आप सब के मन में यह प्रश्न होगा कि हरमनप्रीत कौर का बल्ला अचानक कैसे आग उगलने लग गया? हरमनप्रीत ने खुद इसका जवाब दिया..

‘खेल मनोविज्ञानी से काफी फायदा हुआ’: Harmanpreet Kaur

Harmanpreet Kaur

हरमनप्रीत ने कहा कि स्पोर्ट्स मनोविज्ञानी की मदद से उन्होंने अपनी खोई लय वापस पायी। हरमनप्रीत कौर ने कहा,

“मुझे खेल मनोविज्ञानी से काफी फायदा हुआ। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही थी। इसके बाद मनोविज्ञानी ने मुझसे बात की और उससे मुझे काफी फायदा हुआ। मुझ पर काफी दबाव था। लेकिन उनसे बातचीत कर मेरे आइडिया साफ हो गए।”

“वो लगातार दूसरे खिलाड़ियों से भी बातचीत करती हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली उस पारी ने अलग बेंचमार्क बनाया और इसके बाद लोग मुझसे उसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद करते हैं। यही वजह है कि 40-50 रनों की पारी को लोग ध्यान में नहीं रखते। हालांकि मेरे लिए नंबर मायने नहीं रखते। मुझे बस टीम के लिए खड़े रहना जरूरी है।”

टीम के लिए 5वें नंबर पर खेलने को तैयार हैं Harmanpreet Kaur

harmanpreet-Big bash league

हरमनप्रीत कौर ने बताया कि हालांकि वह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करना पसंद करती हैं लेकिन वह टीम की जरूरत के हिसाब से खेलने के लिए तैयार हैं। हरमनप्रीत ने कहा,

“देखिए बातचीत चलती रहती है। मैं नंबर 4 पर ज्यादा सहज महसूस करती हूं लेकिन आपको टीम के हिसाब से खेलना होता है। फिलहाल मैं नंबर 5 पर खेलते रहना चाहूंगी। वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया को बड़ी साझेदारी पर ध्यान देते रहना होगा। हरमनप्रीत ने कहा कि आखिरी 10 ओवरों में उनकी टीम को तेजी से रन बनाने पर काम करना होगा।”