Hardik Pandya Post Match IRE vs IND

IRE vs IND: हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) की अगुवाई में टीम इंडिया ने आयरलैंड को उन्हीं के घर पर क्लीनस्वीप कर सीरीज अपने नाम कर ली है। 2 मैचों की टी20 सीरीज का रोमांचक अंदाज में अपने अंजाम पहुंची है। भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने मुकाबले की शुरुआत से पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था।

संजू सैमसन और दीपक हुड्डा ने विस्फोटक बल्लेबाजी कर भारत का स्कोर 227 तक पहुंचाया था, इस लिहाज से आयरलैंड को 228 रनों का लक्ष्य मिला था। जिसका पीछा करते हुए आयरिश टीम आखिरी ओवर तक लड़ते हुए 4 रनों से मैच हार गई, सीरीज जीतने के बाद हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने भारत के प्रदर्शन को लेकर बात की है।

टीम इंडिया ने 2-0 से सीरीज की अपने नाम

Image

IRE vs IND दूसरे टी20 मैच में टीम इंडिया की शुरुआत दूसरी पारी में कुछ खास नहीं रही थी, सलामी बल्लेबाज ईशान किशन तीसरे ही ओवर में सिर्फ 3 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे। इसके बाद संजू सैमसन और दीपक हुड्डा की जोड़ी ने मेहमान टीम के गेंदबाजों को आड़े हाथों लेना शुरू किया और 176 रनों की साझेदारी की। इस दौरान दीपक ने 104 तो वहीं सैमसन ने 77 रनों की पारी खेली, जिसके चलते भारत ने 227 रन बनाए।

228 रनों के लक्ष्य का बचाव करते हुए भारतीय गेंदबाजों की भी खूब पिटाई हुई, पॉल स्टर्लिंग और एंडी बलबर्नी ने तबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी की, उनका साथ देने के लिए हैरी टैक्टर ने भी अपने हाथ खोले। हर्षल पटेल, भुवनेश्वर कुमार और रवि बिश्नोई ने क्रमश: 54, 46, और 41 रन दिए, अंत के ओवर में उमरान मलिक ने 17 रनों का बचाव किया। लेकिन ओवर खत्म होते वे भी 42 रन खर्च कर चुके थे।

बतौर कप्तान पहली सीरीज जीतने पर बोले Hardik Pandya

Image

आईपीएल 2022 में चैंपियन बनने के बाद हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को दिग्गजों की गैर मौजूदगी में आयरलैंड दौरे पर टीम इंडिया कप्तान नियुक्त गया था। पहली बार इंटरनेशनल स्तर पर कप्तानी करते हुए टीम को क्लीनस्वीप से जीत दिलाने के हार्दिक (Hardik Pandya) ने कहा,

मैं अपने समीकरण से सारा दबाव बाहर रखने की कोशिश कर रहा था। मैंने उमरान का समर्थन किया। उसके पास गति है, उसकी गति के साथ 18 रन बनाना हमेशा कठिन होता आयरलैंड ने कुछ अद्भुत शॉट खेले, उन्होंने बहुत अच्छी बल्लेबाजी की, हमारे गेंदबाजों को उनकी नसों को पकड़ने का श्रेय दिया।

उन सभी को धन्यवाद जिन्होंने हमारा समर्थन किया। एक बच्चे के रूप में अपने देश के लिए खेलना हमेशा एक सपना होता है। कप्तानी करना और पहली जीत हासिल करना खास था, अब सीरीज जीतना भी खास है, दीपक और उमरान के लिए खुशी की बात है।