After the victory Rohit-Virat bowed in front of Hardik Pandya now he became the villain of defeat against Pakistan

पाकिस्तान के खिलाफ 28 अगस्त को खेले गए मैच में हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) का प्रदर्शन तो सबको याद ही होगा। उन्होंने बाबर की सेना के खिलाफ बेहद ही शानदार प्रदर्शन दिखाया था। वह इस मैच में टीम के हीरो रहे। लेकिन बीते रविवार यानी 4 सितंबर को खेले गए मुकाबले में वह टीम के लिए हीरो नहीं बल्कि विलेन बनकर उभरे। उन्होंने टीम के खिलाफ इतना खराब प्रदर्शन दिखाया कि वह भारतीय टीम (Indian Team) के लिए सबसे बड़ा गुनहगार बन गए। पांड्या खिलाड़ी गेंदबाजी और बल्लेबाजी में बुरी तरह फ्लॉप रहा।

बल्लेबाजी और गेंदबाजी में बुरी तरह फ्लॉप हुए Hardik Pandya

Hardik Pandya

एशिया कप 2022 के दूसरे मुकाबले में भारत का सामना पाकिस्तान से हुआ था। मुकाबले में भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने टीम के लिए गेंद और बल्ले से मैच विनिंग परफॉर्मेंस दिखाया था। वह इस मैच में टीम के लिए हीरो साबित हुए थे। उनके इस प्रदर्शन को देखने के बाद फैंस को उम्मीद थी कि वह पाकिस्तान के खिलाफ एक बार फिर अपना धाकड़ रूप दिखाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

वो न तो बल्ले से अच्छा कर पाए और न ही गेंद से। बीते मुकाबले में मोहम्मद हसनैन की गेंद पर बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। जबकि गेंदबाजी में उन्होंने 44 रन खर्च करते हुए 4 ओवरों में महज एक ही सफलता हासिल की। इस दौरान उनका इकानॉमी रेट 11.00 का रहा।

पाकिस्तान के खिलाफ पिछले मुकाबले में हिट थे Hardik Pandya

Hardik Pandya

28 अगस्त को पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मुकाबले में हार्दिक (Hardik Pandya) ने टीम के लिए अपना ऑलराउंडर प्रदर्शन दिखाया। जहां उन्होंने धाकड़ गेंदबाजी करते हुए टीम के लिए तीन अहम विकेट चटकाई, वहीं उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए चार चौकों और एक छक्के के बदौलत 17 गेंदों पर 33 रनो की नाबाद पारी खेली। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 194.12 का रहा। पांड्या ने अपने इस दमदार प्रदर्शन की वजह से मैन ऑफ द मैच का खिताब भी अपने नाम किया।

टीम इंडिया ने किया पाकिस्तान के खिलाफ हार का सामना

IND vs PAK - Rohit Sharma KL Rahul

रोहित शर्मा और केएल राहुल ने 28-28 रनों की पारी खेलकर टीम को एक अच्छी शुरुआत दिलवाई। इसके बाद वापिस फॉर्म में नजर आ रहे विराट कोहली ने अर्धशतकीय पारी खेलते हुए 60 रन बनाए। इन बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर टीम ने 181 रन बनाए। भारतीय टीम बल्लेबाजी में तो अच्छी रही, लेकिन खराब गेंदबाजी ने टीम का बंटाधार कर दिया। डेथ ओवरों में गेंदबाजों ने खूब रन लुटाए। ढेर सारे रन लुटाते हुए भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार, रवि बिश्नोई, हार्दिक पांड्या, अर्शदीप सिंह और युजवेंद्र चहल ने 1-1 विकेट लिए।