Hardik pandya-virat

ICC T20 Worldcup 2021: पापुआ न्यू गिनी(Papua New Gini) और ओमान(OMAN) के बीच हुए क्वालीफ़ायर राउंड के पहले मुकाबलें के साथ ही टी-20 वर्ल्डकप 2021 (ICC T20 Worldcup 2021) के इस मेगा इवेंट की शुरुवात हो गयी. भारतीय टीम अपने स्टार आलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) की फिटनेस को लेकर काफी चिंता में है. हार्दिक (Hardik Pandya) ने पिछले काफी समय से ढंग से गेंदबाजी नहीं कर पाए है. आईपीएल में तो उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए एक भी ओवर की गेंदबाजी नहीं की है. ऐसे में भारत के पूर्व क्रिकेटर और कमंटेटर गौतम गंभीर (Gautam gambhir) ने हार्दिक को लेकर एक बड़ी बात कही है.

Hardik Pandya को टीम में शामिल होने के लिए करना होगा गेंदबाजी : गौतम गंभीर

Hardik Pandya

स्टार स्पोर्ट्स पर चल रहे बातचीत के दौरान भारत के पूर्व क्रिकेटर और कमेेंटेटर गौतम गंभीर (Gautam gambhir) ने हार्दिक पंड्या(Hardik Pandya) के बारे में कहा,

आईपीएल में बल्ले से पंड्या की खराब फॉर्म का मतलब है कि अगर वह गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं तो उन्हें भारतीय टीम में जगह नहीं मिल सकती है. मेरे लिए हार्दिक पांड्या(Hardik Pandya) भारत की प्लेइंग इलेवन में तभी शामिल होते हैं, जब वे नेट्स में ही नहीं, दोनों अभ्यास मैचों में पूरी तरह से फिट होकर गेंदबाजी करते हैं. उसे अभ्यास मैचों और नेट्स में गेंदबाजी करनी होगी और उसे 100 प्रतिशत गेंदबाजी करनी होगी. अगर आप सोच रहे हैं कि आप आकर 115-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेंगे तो मैं यह जोखिम नहीं लूंगा

पांड्या ने पूरे 2021 आईपीएल में गेंदबाजी नहीं की और मुंबई इंडियंस के लिए 113.39 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 127 रन बनाए

भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ करेगी अपने अभियान की शुरुवात

Hardik Pandya

टी-20 वर्ल्डकप में भारतीय टीम अपने अभियान की शुरुवात अपने चिर-प्रतिवंदी पाकिस्तान के खिलाफ 24 अक्टूबर को करेगी. टीम को उससे पहले 18 अक्टूबर को इंग्लैंड और 20 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2 वार्म-अप मैच खेलना है. पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मुकाबलें के लिए हार्दिक पंड्या(Hardik Pandya) के बारे में गंभीर (Gautam gambhir) ने कहा,

भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी, जिसके कप्तान बाबर आजम इस साल 2000 टी20 अंतर्राष्ट्रीय रन तक पहुंचने वाले सबसे तेज बल्लेबाज बने हैं. नेट्स में गेंदबाजी करने और बाबर आजम जैसे बेहतरीन बल्लेबाजों के खिलाफ और वह भी विश्व कप में बहुत बड़ा अंतर है