Hardik Pandya

IND vs SA: इंडियन क्रिकेट टीम के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पाण्ड्या (Hardik Pandya) 8 महीने के लंबे अंतराल के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करने वाले हैं। उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच टी20 विश्वकप 2021 में खेला था, जिसके बाद चोट के चलते उनका चयन नहीं किया जा रहा था। लेकिन आईपीएल 2022 में पूरी तरह फिट होने के बाद हार्दिक ने मैदान मार लिया।

अपनी कप्तानी में गुजरात टाइटंस को खिताब जिताया साथ ही गेंद और बल्ले से भी कोहराम मचा कर रखा। जिसके चलते 9 जून से शुरू होने वाली भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका टी20 सीरीज में हार्दिक पाण्ड्या (Hardik Pandya) टीम इंडिया में वापिस शामिल किया गया है। इस लेख के जरिए जानते हैं कि हार्दिक पाण्ड्या की मौजूदगी भारतीय टीम की किन 3 परेशानियों को दूर कर देगी।

Hardik Pandya बल्लेबाजी क्रम को देंगे मजबूती

Watch was worth Rs 1.5 crore and not Rs 5 crore, voluntarily declared items brought by me: Pandya- The New Indian Express

हार्दिक पाण्ड्या (Hardik Pandya) के कौशल वाला खिलाड़ी किसी भी टीम की प्लेइंग एलेवन के संतुलन के बेहद अहम कड़ी होते हैं । वे मिडल ऑर्डर में संयम से बल्लेबाजी करने के साथ ही फिनिशर की भूमिका भी बखूबी अदा कर सकते हैं। इसका मुजायरा उन्होंने हाल ही में आईपीएल 2022 में भी दिया था। जहां उनको अपनी टीम की जरूरत के मुताबिक नंबर-3 और 4 पर भी बल्लेबाजी करनी पड़ी थी।

इसके अलावा वे दरकार के अनुसार निचले क्रम में तेज गति से रन बनाने के लिए भी जाने जाते हैं। बात की जाए इंटरनेशनल मैचों में बल्लेबाजी से हार्दिक पाण्ड्या के योगदान की तो उन्होंने 54 मैचों में 146 के लाजवाब स्ट्राइक रेट के साथ 553 रन बनाए हैं। हार्दिक की मौजूदगी लंबे समय से चल रही मिडल ऑर्डर की समस्या से टीम इंडिया को निजात दिला सकती है।

टीम इंडिया को मिलेगा छठा गेंदबाजी का विकल्प

Sri Lanka vs India: Hardik Pandya Is Bowling And It's A Very Good Sign, Says Suryakumar Yadav | Cricket News

बल्लेबाजी के साथ ही हार्दिक पाण्ड्या (Hardik Pandya) गेंद से भी टीम इंडिया के लिए उपयोगी होने वाले हैं। उनकी गैर मौजूदगी में भारत को अतिरिक्त तेज गेंदबाज के विकल्प की कमी खल रही थी। इसके लिए चयनकर्ताओं ने हार्दिक के बैकअप के रूप में वेंकटेश अय्यर को टीम में शामिल किया था। लेकिन उन्होंने उम्मीदों पर खरा उतरने वाला फिलहाल कोई प्रदर्शन नहीं किया है।

वहीं अगर हार्दिक (Hardik Pandya) के हालिया प्रदर्शन की बात करे तो उन्होंने आईपीएल 2022 में लगातार 140 से ऊपर की गति से गेंदबाजी करते हुए 10 विकेट चटकाए थे। जिसमें से उन्होंने सबसे बेहतरीन प्रदर्शन फाइनल मुकाबले में 3 विकेट लेकर किया था।

फील्डिंग में भी Hardik Pandya दे सकते हैं बड़ा योगदान

फील्डिंग प्रैक्टिस में इस 'रोचक बदलाव' के चलते पांड्या ने पकड़ा था हवा में उड़ता कैच - india s fielding drills simulation machine blind fold catching - Sports Punjab Kesari

बल्लेबाजी और गेंदबाजी के अलावा इंटरनेशनल स्तर पर खेलने वाले हर खिलाड़ी को फील्डिंग में अपना शत प्रतिशत देने की जरूरत होती है। इस मोर्चे पर भी हार्दिक (Hardik Pandya) का कोई जवाब नहीं है, हमेशा पॉइंट, लॉन्ग ऑन-ऑफ जैसे हॉट-स्पॉट और बाउंड्री बचाने के लिए मुस्तैदी से क्षेत्र रक्षक करते हुए टीम में अपना योगदान देने की क्षमता रखते हैं। खासकर रवींद्र जडेजा की गैर मौजूदगी में हार्दिक पाण्ड्या की फील्डिंग में भूमिका अहम हो जाएगी।