harbhajan singh-virat kohli
Courtesy: Google image

विराट कोहली (Virat Kohli) की आगुआई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत 2-1 से श्रृंखला हार गई है. साउथ अफ्रीका में सीरीज़ हारने के बाद 15 जनवरी को विराट ने भारतीय टीम की टेस्ट कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया. जिसके चलते अब विराट कोहली (Virat Kohli) भारतीय टीम के क्रिकेट में किसी भी फॉर्मेट में अब कप्तान नहीं रहे.

बता दें कि, उन्होंने पिछले वर्ष T20 वर्ल्डकप के बाद, T20 की कप्तानी से सबसे पहले इसतीफा दिया था, फिर बीसीसीआई द्वारा उनको टीम इंडिया की वनडे कप्तानी से भी हटा दिया गया था. ऐसे में अब भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज गेंदबाज़ हरभजन सिंह ने विराट कोहली (Virat Kohli) के टीम में सिलेक्शन को लेकर बड़ी बात कही है.

भज्जी ने टीम में Virat Kohli के सेलेक्शन को लेकर कही बड़ी बात

harbhajan singh-virat kohli
Courtesy: Google image

भारत के पूर्व अनुभवी गेंदबाज़ हरभजन सिंह ने विराट कोहली (Virat Kohli) के सेलेक्शन को लेकर कहा कि अब वह टीम के कप्तान नहीं है, अब उन पर सेलेक्शन का प्रेशर भी होगा. भज्जी ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि,

“जब एक कप्तान सात साल बाद कप्तानी छोड़ता है, तो टीम के अंदर और बाहर बहुत से लोग आश्चर्यचकित महसूस करते हैं. मैं खुद बहुत हैरान था कि उसने शायद ये फैसला जल्दबाजी में किया. लेकिन जाहिर है, विराट जानता है कि उसके दिल में क्या है लेकिन जब आप कप्तान होते हैं, तो चीजें अलग होती हैं. एक बल्लेबाज के रूप में, उस पर अब एक अलग दबाव होगा. हम सभी जानते हैं कि वो एक बड़ा खिलाड़ी है, लेकिन जब आप कप्तान होते हैं तो आप को अपने चयन के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं होती है क्योंकि आप हमेशा चुने जाते हैं.”

दबाव महसूस करेंगे विराट

Virat Kohli

हरभजन सिंह ने आगे कहा कि,

“लेकिन आप चाहें कितने भी बड़े खिलाड़ी हों – चाहें आप सचिन तेंदुलकर, कपिल देव, (सुनील) गावस्कर, या कोई भी हों – जब आप प्रदर्शन नहीं करते हैं तो आप दबाव महसूस करते हैं। वो एक दबाव महसूस करेंगे जो पिछले 7 वर्षों से नहीं था.”

विराट कोहली (Virat Kohli) का बल्ला काफी समय से उस अंदाज़ में नहीं बोला है, जिस अंदाज़ में पहले बोला करता था. हालांकि वह अब भी टीम के लिए महत्वपूर्ण पारी खेलते हुए दिखाई देते हैं, पर उनकी पारी में वो आत्मविश्वास नहीं दिखता या वो टच नहीं दिखता जो पहले देखा जाता था.

ऐसे में विराट कोहली (Virat Kohli) पर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए अब खासा दबाव होगा क्योंकि वे टीम के कप्तान नहीं है. अब अगर कोहली (Virat Kohli) खराब प्रदर्शन करेंगे तो उनकी जगह रिप्लेसमेंट के तौर पर किसी और को भी खिलाया जा सकता है.