Harbhajan Singh PTI

पिछले कुछ दिनों से महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स में एक के बाद एक मुश्किलें आ रही हैं। एक तरफ टीम के 13 सदस्य कोरोना पॉजिटिव आ गए हैं। तो वहीं सुरेश रैना ने आईपीएल 2020 से नाम वापस लेकर मानो सीएसके को हिला दिया है। मगर अब फैंस ये जानना चाहते हैं कि टीम के दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह यूएई कब पहुंचेंगे? असल में सीनियर खिलाड़ी के टीम से जुड़ने पर टीम को यकीनन मजबूती मिलेगी।

हरभजन सिंह कब पहुंचेंगे यूएई?

हरभजन सिंह

इन दिनों चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में उथल-पुथल मची हुई है। मगर अब टीम के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह, जो कुछ निजी कारणों के चलते फ्रेंचाइजी के साथी खिलाड़ियों के साथ यूएई नहीं पहुंच पाए थे। वह सितंबर में यूएई के लिए उड़ान भरेंगे।

मगर एक हफ्ते तक टीम से अलग क्वारेंटीन होने के बाद ही वह टीम के साथी खिलाड़ियों से मिल सकेंगे और उनके साथ प्रैक्टिस के लिए मैदान पर उतर सकेंगे। दरअसल, कुछ निजी कारणों के चलते हरभजन फ्रेंचाइजी के साथ यूएई नहीं पहुंचे थे, मगर अब वह जल्द ही यूएई पहुंचकर टीम के साथ जुडे़ंगे। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि भज्जी के टीम से जुड़ने से एमएस धोनी की टीम को मजबूती मिलेगी।

सीएसके में चल रही है उथल-पुथल

आईपीएल में 3 बार खिताबी जीत दर्ज कर चुकी चेन्नी सुपर किंग्स की टीम में इन दिनों काफी उथल-पुथल देखने को मिल रही है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो चेन्नई के तेज गेंदबाज दीपर चाहर व ऋतुराज गायकवाड़ सहित 13 सीएसके सदस्य कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। तो वहीं टीम के अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना आईपीएल 2020 से नाम वापस लेकर यूएई लौट आए हैं, जो सीएसके के लिए एक बड़ा झटका है।

रैना एकमात्र आईपीएल के ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 12 सीजन में 300 से अधिक स्कोर बनाए। मिस्टर आईपीएल के नाम से मशहूर रैना की गैरमौजूदगी में यकीनन धोनी की टीम को बल्लेबाजी में उनकी कमी खलेगी।

200 लोगों के हुए टेस्ट

हरभजन सिंह

कोरोना वायरस के बीच आईपीएल का आयोजन यूएई में कराया जाएगा। इसके लिए बीसीसीआई ने कड़े नियमों के साथ एसओपी जारी की है, जिसके नियमों का सभी सदस्यों को सख्ती से पालन करना है। मगर हाल ही में 200 सदस्यों की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आई और उसमें सीएसके के 13 सदस्यों का पॉजिटिव आना, आईपीएल 2020 के लिए बुरी खबर है।

फिलहाल तो सीएसके के सभी सदस्यों को क्वारेंटीन कर दिया गया है। मगर इस तरह एक ही टीम के 13 सदस्यों के कोविड पॉजिटिव आने से लीग पर भी खतरा मंडराता हुआ नजर आ रहा है।