harbhajan singh

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑफ़ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) इंटरनेट पर काफी एक्टिव रहते हैं. आए दिन कुछ ना कुछ सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं. साथ ही भज्जी का एक यूट्यूब चैनल भी है, जिसपर वो आकर किसी न किस्से मुद्दे पर बात करते हुए दिखाई देते हैं. वहीं हर कोई इस बात से वाकिफ है कि भज्जी किसी से लड़ने में डरते नहीं हैं, वे विवादों के चलते चर्चा में रहने से बिल्कुल नहीं घबराते. इस बीच भज्जी का एक और कारनामा सामने आ रहा है. दरअसल, भज्जी हाल ही में एक पत्रकार से ट्विटर पर भिड़ गए. हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने पत्रकार से ही उल्टा सवाल पूछ लिया.

पत्रकार से भिड़े Harbhajan Singh

दरअसल पत्रकार के श्रीनिवास राव ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए इस बात का दावा किया है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआई का एक अधिकारी सेलेक्शन कमीटी की मीटिंगों में शामिल हो रहा है, ये पता होने के बाद भी कि उसको वहां नहीं होना चाहिए.

जर्नलिस्ट के श्रीनिवास राव ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा कि, “काफी समय तक, बीसीसीआई का एक अधिकारी खुद को चयन समिति की बैठकों में आमंत्रित करता रहा है, जबकि वो जानता था कि उसे दूर रहना चाहिए था. कप्तान और कोच असहाय थे, वो कुछ नहीं कर सके। उनका वहां रहने का कोई मतलब नहीं था। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में इस तरह के उदाहरण दोहराए नहीं जाएंगे.”

पत्रकार के इस ट्वीट पर भारतीय पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने ट्वीट करते हुए, पत्रकार से पूछा कि, “तुम्हें कैसे पता और कौन है वो ऑफिशियल?” भज्जी ने पत्रकार को ही आड़े हाथों लेने की कोशिश की. उन्होंने पत्रकार से ही सवाल पूछ डाला. हालांकि पत्रकार ने भी भज्जी के सवाल का बड़ी दिलेरी से जवाब दिया.

पत्रकार ने दिया भज्जी के सवाल का जवाब

भज्जी (Harbhajan Singh) के कमेंट करने के बाद जर्नलिस्ट के श्रीनिवास राव भी थमे नहीं उन्होंने बड़ी दिलेरी से भज्जी के सवाल का जवाब दिया.

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर हरभजन सिंह के सवाल का जवाब देते हुए लिखा कि, “अच्छा सवाल। आपको इसे विराट (कोहली), रवि (शास्त्री), बीसीसीआई और चयनकर्ताओं के सामने भी रखना होगा. मुझे यकीन है कि उनमें से कुछ लोगों को इस पर रिएक्ट करने में कोई दिक्कत नहीं होगी. और जब वो जवाब देते हैं, तो कृपया उसे सबके सामने रखें। यदि ये प्रश्न (प्रश्न) अधिक नियमित रूप से पूछे जाते तो भारतीय क्रिकेट कहीं बेहतर स्थिति में होता. आप विराट और रवि से शुरुआत कर सकते हैं.”

बहरहाल, इसके बाद हरभजन सिंह ने कुछ कहा नहीं, जिसके चलते ये छोटी सी नोखझोंक यहीं पर समाप्त हो गई.