inzmam Harbhajan 1

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) भारत के सबसे सफल पूर्व दिग्गज स्पिनर हरभजन एक बार फिर सुर्ख़ियों में बने हुए है. एक समय पर विरोधी खिलाड़ियों को अपनी गेंदों पर चकमा देने वाले भज्जी की एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. वीडियो में पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम उल हक अपने समय का एक किस्सा बताते हुए भज्जी से जुड़ा एक बड़ा दावा कर रहे हैं. उनके अनुसार भज्जी (Harbhajan Singh) अपने जीवन का सबसे बड़ा फैसला लेने वाले थे लेकिन फिर वो रुक गये.

धर्म परिवर्तन को लेकर कही ये बड़ी बात

inzamam-ul-haq

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक वीडियो में पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी इंजमाम उल हक भज्जी (Harbhajan Singh) को लेकर एक विडियो में बड़ा बयान देते हुए दिख रहे है. उनके अनुसार हरभजन एक समय पर मौलाना के बात तक करने को तैयार हो गये थे. उन्होंने कहा,

“मौलाना तारीक जमील साहब हमारे पास रोजाना नमाज पढ़ाने आया करते थे. हमने एक कमरा बनाया हुआ था जिसमें हम नमाज अदा किया करते थे. मौलाना हमें मग़रिब की नमाज पढ़ाते थे और फिर हमसे थोड़ी देर बात किया करते थे.”

भारतीय खिलाड़ी भी साथ जाते थे नमाज पढने

Harbhajan Singh

यह उस समय की बात है जब भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलती थी. इंजमाम के अनुसार तब भारतीय खिलाड़ी इरफ़ान पठान, मोहम्मद कैफ और ज़हीर खान को हम अपने साथ नमाज पढ़ने के लिए न्योता देते थे. इस दौरान कुछ खिलाड़ी आकर हमारे साथ नामाज तो नहीं पढ़ते हैं लेकिन हमें ऐसा करते हुए देखा करते थे.

दीन से दूरी हमारी वजह से है – Harbhajan Singh

Harbhajan singh

इसके बाद इंजमाम ने हरभजन (Harbhajan Singh) का नाम लेते हुए कहा की उन्होंने एक दिन मुझे सीधे तौर पर कहा की यह जो आदमी है (मौलाना) जो नमाज पढ़ता है मन करता है उसकी बात मान लूँ. तो मैंने कहा की इसमें क्या मुश्किल है तुम कर लो इसकी बात मान लो. फिर भज्जी ने कहा कि, नहीं मैं तुम्हे देख कर रुक जाता हूँ.

इंजमाम के यह कहने पर कि मुझे देख कर क्यों रुख जाते तो भज्जी (Harbhajan Singh) ने जवाब दिया, तुम्हारी जिंदगी उस तरह की नहीं है. जो यह दीन से आज दूरी है वह हमारी वजह से है, हमारे लोगों की वजह से है.” इंजमाम के अनुसार भज्जी उस समय धर्मांतरण करने के लिए तैयार थे.