Harbhajan Singh Harbhajan Singh retirement
Harbhajan Singh Harbhajan Singh retirement

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया है. उन्होंने शुक्रवार को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट को साझा करते हुए ये जानकारी फैंस को दी. इसके साथ ही उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो भी पोस्ट किया है. जिसमें उन्होंने अपने क्रिकेट सफर के बारे में विस्तार से बताया है. वीडियो के जरिए हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने क्या कुछ कहा है इस बारे में हम आपको अपनी इस पोस्ट के जरिए बताने जा रहे हैं.

मैनें आईपीएल के दौरान ही संन्यास लेने का बना लिया था मन- दिग्गज क्रिकेटर

 Harbhajan Singh

वीडियो में हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) कहते हैं कि,

“जलंधर की तंग गलियों से टीम इंडिया के टर्बनेटर तक के पिछले 25 साल तक का सफर बेहद खूबसूरत रहा. जब भी मैं भारतीय टीम की जर्सी पहनकर मैदान पर उतरा उससे बेहद खूबसूरत पल मेरी जिंदगी का कोई और नहीं रहा. लेकिन, जिंदगी में वो वक्त आता है जब आपको कुछ कठिन फैसले करने पड़ते हैं और आगे बढ़ना पड़ता है. मैं पिछले कुछ साल से एक घोषणा करना चाहता था.

इसके लिए मैं इंतजार कर रहा था आप सबके साथ उस पल को कब साझा करूं. मैं आज क्रिकेट के हर फॉर्मेट से रिटायरमेंट ले रहा हूं. यूं तो मैं पहले ही रिटायरमेंट ले चुका था. लेकिन, अनाउंस करना बाकी था. बीते कुछ समय से मैं क्रिकेट में भी ज्यादा एक्टिव नहीं था. लेकिन, केकेआर के साथ हुई कमेटमेंट के कारण मैं चाहता था कि उनके साथ काम करूं. लेकिन, सीजन के शुरू होने के साथ ही मैनें संन्यास लेने का मन बन लिया था.”

अपने गुरूजी और माता-पिता को कहा धन्यवाद

 Harbhajan Singh Statement

उन्होंने आगे बात करते हुए कहा,

“हर क्रिकेटर चाहता है कि वो भारत की जर्सी में अपने खेल को अलविदा कहे. लेकिन, तकदीर को तो शायद कुछ और ही मंजूर था. मैनें जिस टीम के साथ कमेटमेंट की उसके लिए 100 प्रतिशत देने की कोशिश की. वो चाहे जो भी टीम रही हो. मैं ये जो भी कर पाया अपने गुरूजी के आशीर्वाद की वजह से ही कर पाया. उन्होंने मुझे सही दिशा दिखाई.”

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने अपने गुरूजी को अपनी सफलता का कारण बताया. इसके साथ ही उन्होंने अपने माता-पिता का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा,

“उनके माता-पिता ने उनकी जिंदगी संवारने के लिए काफी ज्यादा संघर्ष किया. इसलिए मुझे भगवान जब भी इस दुनिया में दोबारा भेजे तो उन्हीं के घर में भेजे. इसी के साथ उन्होंने अपनी बहन को भी खास धन्यवाद दिया. इसके अलावा उन्होंने अपनी पत्नी और बच्चों को अपना सब कुछ बताया.”

इन सभी लोगों को शुक्रिया कहते हुए अपने करियर के खास पल को किया याद

 Harbhajan Singh

अपने क्रिकेटर करियर के खास पल का जिक्र करते हुए हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने टेस्ट में ली गई हैट्रिक को याद किया. ऐसा करने वाले वो पहले गेंदबाज बने थे. इसके अलावा भज्जी ने 2007 और 2011 के वर्ल्ड कप को भी अपनी करियर का यादगार पल बताया. इसके साथ ही उन्होंने अपने सभी साथी, विरोधी खिलाड़ी, अंपायर, कोच, ग्राउंड स्टाफ, मीडिया और फैंस का भी धन्यवाद किया.

भज्जी (Harbhajan Singh) ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और सभी अधिकारियों को भी तहे दिल से धन्यवाद कहा. आखिर में भज्जी ने कहा,

“मैनें काफी अरसे तक टीम इंडिया की सेवा की है और करता रहूंगा. मुझे नहीं पता भविष्य में क्या होगा. लेकिन, मैं जो कुछ भी हूं वो क्रिकेट की वजह से हूं. ऐसे में भारतीय टीम के किसी भी काम आ सकूं तो मुझे बहुत खुशी होगी. आपका ये टर्बनेटर क्रिकेटर हर चुनौती के लिए तैयार है. जय हिंद, जय भारत..”

सभी Cricket Match Prediction और Fantasy Tips प्राप्त करें CLICK HERE

Cricket Match PredictionIPL 2022 Auction | Today Match Fantasy Tips | Fantasy Cricket Tips | ICC Teams  Rankings| Cricket News and Updates | Cricket Live Score