Hansie Cronje Former SA Captain

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हेंसी क्रोनिए (Hansie Cronje) के फिक्सिंग मामले ने आज से 22 साल पहले पूरे क्रिकेट जगत को हिलाकर रख दिया था। साल 2000 में प्रोटियाज टीम भारत के दौरे पर आई थी, उस समय दिल्ली के बुकी की हेंसी क्रोनिए के साथ फिक्सिंग को लेकर बातचीत का मामला सामने आया था।

पुलिस की तफ्तीश की शुरुआत में तत्कालीन बीसीसीआई सेक्रेटरी ने मेहमान टीम के कप्तान पर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बता दिया था, लेकिन जैसे ही जांच आगे बड़ी तो हेंसी क्रोनिए गुनहगार साबित हो गए।

Hansie Cronje के फिक्सिंग मामले से मची थी सनसनी

Rewind: Hansie Cronje and Bob Woolmer's earpiece ploy

यह मामला 7 अप्रैल 2000 का है, इस दिन दिल्ली पुलिस ने प्रेस वार्ता के जरिए फिक्सिंग मामले की जानकारी साझा की थी। इस बात की सूचना देते हुए पुलिस की ओर से साफ तौर पर बताया गया था कि फिक्सिंग के मामले में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हेंसी क्रोनिए (Hansie Cronje) का नाम शामिल है और बुकी राजेश कालरा की गिरफ़्तारी की जा चुकी है। किसी इंटरनेशनल टीम के कप्तान का फिक्सिंग में इस तरह नाम आने के बाद क्रिकेट जगत में हलचल मच गई थी।

Hansie Cronje के बचाव में बीसीसीआई ने दिया था बयान

BCCI Full Form, Logo Explanation, Unknown Facts, Sponsor Details

उस समय भारत के हर एक न्यूज चैनल पर सिर्फ और सिर्फ हेंसी क्रोनिए (Hansie Cronje) का चेहरा ही दिखाया जा रहा है। लेकिन इस सबके बवाजूद पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी और दलील पर विश्वास करने वाले कम ही लोग थे, हालांकि पुलिस ने पूरे विश्वास के साथ अपनी बात को आगे रखा था। इसी बीच तत्कालीन भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सचिव जेवाई लेले का कहना था कि

“हेंसी क्रोनिए पर लगे सभी आरोप सभी आरोप झूठे और मनगढ़ंत है और वे कुछ भी साबित नहीं कर पाएंगे।”

हर्शल गिब्स ने किया था फिक्सिंग कांड का खुलासा

You brought the heat': Herschelle Gibbs, Shoaib Akhtar recall 2000 Sharjah ODI | Cricket News – India TV

हेंसी क्रोनिए पूरी जांच के दौरान अपने ऊपर लगे आरोपों को नकारते रहे थे, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के ही पूर्व खिलाड़ी और घातक बल्लेबाज रहे हर्शल गिब्स ने इस बात का खुलासा किया था कि नागपुर में 19 मार्च को 5वें वनडे के दौरान क्रोनिए ने उन्हें 20 से कम रन बनाने के बदले 15,000 डॉलर कीई पेशकश की थी।

वहीं अंत में हेंसी क्रोनिए ने भी अपना अपराध स्वीकार करते हुए कहा था कि 1996 में कानपुर में तीसरे टेस्ट के दौरान मुकेश गुप्ता नाम के शख्स ने उन्हें 30,000 डॉलर दिए, ताकि आखिरी दिन उनकी टीम विकेट गंवाए और मैच हार जाए। इस मामले से पहले क्रोनिए को दक्षिण अफ्रीका में बेहद सम्मान से नवाजा जाता था। उन्होंने अपने देश के लिए 68 टेस्ट और 188 वनडे मैच खेले थे।