hafeez pakistan newzealand

हाल में New Zealand की टीम, पाकिस्तान के दौरे पर गई थी, लेकिन किसी कारण उसने इस दौरे को बीच में ही रद्द कर दिया। इस दौरे को बीच में ही रद्द करने के बाद से बवाल मचा हुआ है। पाकिस्तान सरकार, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और पाकिस्तान के खिलाड़ियों को कीवी टीम का दौरा रद्द करने का फैसला बिल्कुल हजम नहीं हो रहा है। इसी वजह से वो ट्विटर पर New Zealand टीम को बुरा-भला कहने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसा ही कुछ पाकिस्तानी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने किया है।

मोहम्मद हफीज ने की सुरक्षा व्यवस्था की तारीफ

hafeez pakistan

कीवी टीम द्वारा दौरा बीच में रद्द करने के बाद लगभग सभी पाकिस्तानी लोग गुस्सा हैं। टीम के ही आलराउंडर खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने सुरक्षा कारणों की वजह से दौरे को छोड़ने के लिए न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों पर कटाक्ष किया है। हफीज ने New Zealand टीम की इस्लामाबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट की एक तस्वीर शेयर करने के साथ ही लिखा कि, ” पाकिस्तान के सुरक्षाबलों का धन्यवाद, जिन्होंने न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम को इस्लामाबाद के एयरपोर्ट पर महफूज पहुंचाने के लिए पूरी व्यवस्था की। लेकिन, मुझे हैरानी हो रही है कि एक ही रास्ता और पहले जैसे ही सुरक्षा, लेकिन आज कोई खतरा नहीं?”

हफीज के इस ट्वीट पर न्यूजीलैंड के क्रिकेटर मिचेल मैक्लेघन ने जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि दौरे को रद्द करने के लिए न्यूजीलैंड की टीम को दोषी नहीं ठहराया जाना चाहिए। हालांकि, बाद में मैक्लेघन ने वो ट्वीट डिलीट कर दिया।

New Zealand के खिलाड़ी ने ही सरकार पर किया सवाल

Mitchell-McClenaghan हाल में New Zealand की टीम, पाकिस्तान के दौरे पर गई थी, लेकिन किसी कारण उसने इस दौरे को बीच में ही रद्द कर दिया।

पाकिस्तानी खिलाड़ी मोहम्मद हफीज के दौरा रद्द होने के बाद किए गए ट्वीट पर New Zealand के खिलाड़ी मिचेल ने भी ट्वीट करते हुए जवाब दिया था। हालांकि मैक्लेघन ने ट्वीट डिलीट भी कर दिया। लेकिन, उनके ट्वीट डिलीट करने से पहले उन्होंने हफीज के लिए लिखा था कि मुझे पता है दौरा रद्द होना कितना बुरा है।

लेकिन इसके बाद खिलाड़ियों या बोर्ड को दोषी मत ठहराओ, बल्कि अगर किसी को दोष देना है तो हमारी सरकार को दो। उन्होंने भी खुफिया रिपोर्ट के आधार पर ही काम किया। मुझे पूरा यकीन है कि युवा खिलाड़ी खुद को साबित करना चाहते थे और खेलना चाहते थे। इसके बाद न्यूजीलैंड की 34 सदस्यीय टीम इस्लामाबाद से चार्टर्ड फ्लाइट से दुबई पहुंच गई है।