Gerhard Erasmus

ICC T20 World cup 2021: टी-20 वर्ल्डकप 2021 (T20 World cup 2021) के 27 वे मुकाबलें में आज अफगानिस्तान और की एरार्ड इरास्मस (Gerhard Erasmus) कप्तानी वाली नामीबिया की टीमों का आमना सामना हुआ. नामीबिया अपना पिछला मैच जीत के यहाँ आई थी तो वही  अफगानिस्तान को अपने पिछले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पिछला मुकाबला एक नजदीकी अंतर से गवां बैठी थी. आज के इस महत्वपूर्ण मुकाबलें (AFG vs NAM) में अफगानिस्तान ने नामीबिया को एक एकतरफे मुकाबलें में 62 रनों के भरी अंतर से हरा दिया.

नामीबिया की हुई करारी शिकस्त

Gerhard Erasmus

टॉस जीत कर पह्ले बल्लेबाजी करने उतरी अफगानिस्तान को उनके दोनों ओपनर बल्लेबाज अहमद शहजाद (Ahmad Shahzad) और हजरतुल्लाह ज़जई (Hazratullah Zazai) ने मिलकर टीम को एक धाकड़ शुरुआत दिलाई. दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिए 53 रन जोड़े और फिर अंत में कप्तान मोहम्मद नबी (Mohammed Nabi) ने केवल 17 गेंदों पर 5 चौक्के और 1 शानदार छक्के की मदद से ताबड़तोड़ 32 रन ठोककर अफगानिस्तान का स्कोर 160 रनों तक पहुंचा दिया.

यह भी पढ़ें: नवीन उल हक ने असगर अफगान को दिया अपना ‘मैन ऑफ द मैच’ अवॉर्ड,

161 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी नामीबिया की शुरुआत काफी खराब रही. टीम ने अपने पहले 3 विकेट केवल 29 रनों पर गवां दिए. 56 रन तक पहुँचते- पहुँचते नामीबिया ने अपने 6 विकेट गवां दिए. जिसके कारण नामीबिया 20 ओवर के बाद 9 विकेट के नुकसान पर 98 रन तक ही पहुँच पायी और 72 रनों के एक बड़े अंतर से मैच को गवां दिया. नामीबिया के लिए डेविड वाईज (David Wiese) ने 26 रन बनाए. कप्तान एरार्ड इरास्मस (Gerhard Erasmus) केवल 12 रान्ही बना पाए.

वर्ल्ड क्लास है अफगानिस्तान की गेंदबाजी: Gerhard Erasmus

Gerhard Erasmus

टूर्नामेंट में अपना पहला मुकाबला गवाने के बाद नामीबिया के कप्तान एरार्ड इरास्मस (Gerhard Erasmus) ने अफगानिस्तान के गेंदबाजों की काफी तारीफ़ की. पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान उन्होंने (Gerhard Erasmus) कहा,

हमें पता था कि जिस तरह की गेंदबाज़ी का सामना हमें करना है, वह हमारे काफ़ी टफ़ होने वाला है. यहां हमारा पहला गेम था और कुछ कारणों से पिच पर जो घास थी वह काट दी गई थी. पावरप्ले में हमने काफ़ी रन लुटाए. विरोधी टीम ने कई अच्छी साझेदारियां की. पिच में ज्यादा बदलाव नहीं हुआ. हमने लक्ष्य का पीछा करने का प्रयास किया लेकिन उनकी गेंदबाज़ी काफ़ी बढ़िया थी.