गौतम गंभीर

आज भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ही है. लेकिन उनके आलोचकों की संख्या कम नहीं है. वही फैन्स की भी कोई गिनती नहीं है. अब पूर्व भारतीय दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी को टीम की कप्तानी करने के बजाय ये काम करना चाहिए था.

गौतम गंभीर ने कहा कप्तानी नहीं ये करना चाहिए था धोनी को

गौतम गंभीर

बतौर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने हर वो सफलता हासिल की है. जिसके बारें में सभी सोचते हैं. लेकिन उसके बाद भी उनकी कप्तानी की आलोचना कुछ समय की जाती है. वो विश्व के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं. जिन्होंने सभी आईसीसी ट्रॉफी अपने नाम किया है. अब पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और धोनी के साथी खिलाड़ी रहे गौतम गंभीर ने उनको लेकर स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में कहा कि

” शायद दुनिया ने एक चीज मिस कर दी… एमएस धोनी ने भारत की कप्तानी की और नंबर तीन पर बल्लेबाजी नहीं की. अगर एमएस ने नंबर तीन पर बैटिंग की होती तो शायद दुनिया को एक अलग ही खिलाड़ी देखने को मिलता. संभव है कि वह और ज्यादा रन बनाते और कई रिकॉर्ड तोड़ डालते.”

नंबर 3 पर शानदार रिकॉर्ड है महेंद्र सिंह धोनी के

अपने करियर में बहुत कम बार महेंद्र सिंह धोनी ने ऊपर बल्लेबाजी किया. वो अक्सर नीचले क्रम पर ही खेलते हुए नजर आते थे. हालाँकि नंबर 3 पर खेलते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय टीम के लिए 16 एकदिवसीय मैच में 82 से ज्यादा औसत और 100 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से 993 रन बनाये हैं. इसी आकड़े को और मौजूदा टीमों को ध्यान में रखते हुए गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी को लेकर कहा कि

” वैसे रिकॉर्ड की बात छोड़ देते हैं क्योंकि वे तो बनते ही टूटने के लिए है. लेकिन भारत की कप्तानी की बजाए वह नंबर तीन पर खेलते तो दुनिया के सबसे एक्साइटिंग क्रिकेटर होते.”

अब गौतम गंभीर ने धोनी की तारीफ की या आलोचना?

गौतम गंभीर

अगर इस बयान की तरफ नजर डाले तो ये समझना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है की गौतम गंभीर ने धोनी की बतौर बल्लेबाज तारीफ की है. या फिर उन्होंने उनकी बतौर कप्तान कद को छोटा बताया है. हालाँकि दोनों के बीच रिश्ते अंत में बहुत अच्छे नहीं रहे थे. जो नजर आ रहा था. हालाँकि गौतम गंभीर का करियर भारतीय टीम के लिए समय से पहले खत्म हुआ.