Gautam Gambhir

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) साउथ अफ्रीका में मिली हार से काफी नाराज हैं. दरअसल टीम इंडिया के दो स्टार ऑलराउंडर  हार्दिका पांड्या और रवींद्र जडेजा इंजरी के कारण टीम से बाहर चल रहे हैं. जिनकी जगह एक युवा खिलाड़ी को टीम में शामिल किया गया था. जिसने साउथ अफ्रीका दौरे पर पूरी तरह निराश किया. इसलिए पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इस खिलाड़ी को टीम से बाहर निकालने की बात तक कह डाली.

Gautam Gambhir को वेंकटेश अय्यर पर आया गुस्सा

Gautam Gambhir-IPL

साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के दौरान टीम इंडिया की कई कमियां समने आईं, तो वहीं इस वनडे सीरीज के जरिए 50-50 क्रिकेट में अपना डेब्यू करने वाले आलराउंडर वेंकटेश अय्यर ने भी निराश किया. अब वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) को प्रदर्शन को लेकर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) बुरी तरह से उन पर भड़क गए. उन्होंने खराब प्रदर्शन के लिए वेंकटेश अय्यर की जमकर क्लास लगा दी.

‘मुझे लगता है कि उन्हें केवल टी20 क्रिकेट के लिए ही चुना जाना चाहिए. क्योंकि उसके पास अभी तक परिपक्वता का वह स्तर नहीं है. उन्हें सिर्फ 7-8 आईपीएल मैचों में देखकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने का मौका दिया गया है. अगर आईपीएल के प्रदर्शनों की बात करें तो उन्हें टी20 क्रिकेट में खेलें. ओडीआई एक पूरी तरह से अलग गेंद का खेल है”

ऑलराउंडर वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) को अभी वनडे क्रिकेट में तैयार नहीं किया गया है और उन्हें केवल टी20 प्रारूप के लिए ही चुना जाना चाहिए. अय्यर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हाल ही में समाप्त एकदिवसीय श्रृंखला में कुछ औसतन विकेंट लिए और उन्हें अंतिम गेम के लिए प्लेइंग इलेवन से हटा दिया गया था. उन्होंने दो मैचो में मौका दिया गया. उन्होंने दो पारियों में सिर्फ दो और 22 रन बनाए और पहले गेम में भी गेंदबाजी नहीं की. जो उनके चयन पर बहुत सारे सवाल खड़े करता है.

टी20 क्रिकेट ही खिलाए बस

Venkatesh Iyer

पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)  ने कहा कि अगर आपको इस खिलाड़ी को खिलाना है तो टी20  क्रिकेट में खिलाने की सोचे. वेंकटेश अय्यर(Venkatesh Iyer) को टी20 अंतरराष्‍ट्रीय में भी केवल ओपनर के रूप में ही मौका दिया जाना चाहिए, क्‍योंकि वो अपनी आईपीएल टीम के लिए ओपन करते हैं. अगर आप वनडे में उन्‍हें खिलाना चाहते हैं तो उनकी फ्रेंचाइजी से बात कीजिए. उन्‍हें कहें कि अय्यर को मध्‍यक्रम में मौका दिया जाए.

“अय्यर ने आईपीएल में ओपनिंग की थी, अब वह मध्यक्रम में खेल रहे हैं. उसे वापस भेज दो.”

वेंकटेश अय्यर ने साल 2021 के आईपीएल में शानदार प्रदर्शन किया था. जिसके लिए उन्हें भारतीय टीम में जगह मिली. आईपीएल में उन्होंने 10 पारियों में 370 रन बनाए और अपनी फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स को टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाया. मध्यम गति से गेंदबाजी करने और शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करने की उनकी क्षमता ने उन्हें मिश्रण में ला दिया है. उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी सीमित ओवरों की सीरीज के लिए टीम में चुना जा सकता हैं.