Gautam gambhir-ms dhoni

टीम इंडिया पूर्व कप्तान रहे एमएस धोनी (MS Dhoni) अपने दौर में हिटिंग बल्लेबाजो में एक रहे हैं. हाल ही में गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने उनकी बल्लेबाजी को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है. आज के दौर में भी कैप्टन कूल के प्रदर्शन को लेकर कई बड़े दिग्गज कसीदे पढ़ते हुए दिखाई देते हैं. उन्होंने कई मुकाबलों में मैच का रूख बदला है. उनका यही अंदाज फैंस के बीच चर्चा का विषय रहा है. कब हाथ से निकले हुए मैच में वो अपना पलड़ा भारी कर लेते हैं इसका विरोधी टीम को अंदाजा भी नहीं हो पाता है. इसलिए ये बात कही जाती है कि, जहां माही हैं वहां सब मुमकिन है.

सीएसके के कप्तान की फॉर्म को लेकर पूर्व सलामी बल्लेबाज ने दी प्रतिक्रिया

Gautam Gambhir

हालांकि जब से पूर्व कप्तान ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया है उनकी फॉर्म पहले  के मुकाबले थोड़ी खराब रही है. बीते सालों से लगातार फैंस उनकी बड़ी पारी का इंतजार कर रहे हैं. लेकिन, अभी तक ऐसा हो नहीं सका है. इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने उनकी फॉर्म को लेकर एक बड़ा सुझाव दिया है. इस बारे में स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए  उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

 

एमएस धोनी के नेतृत्व में खेल चुके पूर्व बल्लेबाज ने अपने बयान में कहा कि,

‘धोनी एक ऐसे प्लेयर रहे हैं जो हमेशा 4 या 5 नंबर पर बल्लेबाजी करते आए हैं. लेकिन, आईपीएल 2021 के पहले हाफ में देखने को मिला कि वो छठे या 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतर रहे हैं. कई बार तो ऐसा भी हुआ जब उन्होंने खुद की जगह सैम करन को बैटिंग के लिए भेज दिया.’

धोनी के लिए बड़े शॉट्स भी लगाना अब आसान नहीं

photo 2021 09 16 17 37 01

इस सिलसिले में आगे बात करते हुए गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का कहना है कि, वो शायद अब मेंटॉर बनने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं. पूर्व बल्लेबाज ने ये भी कहा कि,

‘शायद धोनी अब मेंटॉर और विकेटकीपर की ही भूमिका निभा रहे हैं. धोनी टीम को लीड करने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं. यदि इस तरह के हालात आए कि उन्हें सिर्फ 8 से 10 गेंद ही खेलनी हैं तो धोनी जाकर बड़े शॉट्स लगा सकते हैं. लेकिन, अब ये काम भी उनके लिए इतना आसान नहीं रहा है.’

photo 2021 09 16 17 37 32

इस बारे में उन्होंने कहा कि,

‘यदि आप इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना छोड़ देते हैं तो IPL जैसे बड़े टूर्नामेंट में आपको मुश्किल होती है. ये CPL या फिर बाकी लीग जैसा नहीं है. IPL में टॉप क्वालिटी गेंदबाजों का सामना करना पड़ता है.’

फिलहाल गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के इस बयान से एमएस धोनी कितना इत्तेफाक रखते हैं, ये तो वक्त आने पर पता चलेगा. लेकिन, इस बात को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है पहले के मुताबिक उनके प्रदर्शन में गिरावट देखने को मिली है.