Gautam Gambhir

IPL का आलोचना कर रहे दिग्गजों पर बरसे Gautam Gambhir, लीग को नहीं बल्कि इन्हें ठहराया खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन का दोष∼

भारतीय टीम टी20 विश्व कप के सेमीपाइनल मुकाबले में इग्लैंड के हाथों 10 विकेट से हारकर बाहर हो गई थी। इसके बाद से इंडियन प्रीमियर लीग आलोचकों के निशाने पर है। इसे बैन करने की मांग भी उठने लगी थी। विश्व जगत के तमाम पूर्व क्रिकेटर और जानकार आईपीएल को लेकर अपनी अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। हालांकि गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) की सोच इससे विपरीत है। उन्होंने आईपीएल का बचाव करते हुए उसकी आलोचना करने वालों को करारा जवाब दिया है। साथ ही आईसीसी इवेंट्स में खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन की वजह का भी खुलासा किया है।

IPL पर उंगली उठाना गलत है- Gautam Gambhir

Gautam Gambhir on ipl is best thing happen to indian cricket team players coach | Gautam Gambhir: 'भारतीय क्रिकेट के लिए IPL सबसे...', गौतम गंभीर ने अचानक दिया चौंकाने वाला बयान |

भारत ने 2013 के बाद से आईसीसी का कोई भी बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीता है। आखिरी बार धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया था। लेकिन, हाल ही में संपन्न हुए टी20 विश्व कप से भारतीय फैंस और दिग्गजों को खासा उम्मीदें थी।लेकिन, सेमीफाइनल में इंग्लैंड से मिली करारी शिकस्त के साथ ही टीम इंडिया का ये सपना भी चकनाचूर हो गया। इसके बाद दिग्गजों ने टीम के हार का ठीकरा भारत की घरेलू लीग आईपीएल (IPL) पर फोड़ना शुरू कर दिया। हालांकि पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इस लीग का सपोर्ट करते हुए कहा,

“भारतीय क्रिकेट के साथ जो सबसे अच्छी चीज हुई है, वह आईपीएल है। मैं यह पूरे होश में कह रहा हूं। आईपीएल जब से शुरू हुआ है, किसी ना किसी बात को लेकर इसकी आलोचना होती रही है। जब भी भारतीय क्रिकेट अच्छा नहीं कर रहा होता है, तो सारा कसूर आईपीएल का हो जाता है, जो सही बात नहीं है। अगर हम आईसीसी टूर्नामेंट्स में अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं, तो इसके लिए खिलाड़ियों को दोषी ठहराइये, उनके प्रदर्शन को दोषी ठहराइये, लेकिन आईपीएल पर उंगली उठाना गलत है।”

भारतीय मूल के कोचों को मिल रहा है मौका- Gautam Gambhir

जिस खिलाड़ी को टीम में नहीं मिल रही जगह, उसे कप्तान बनाने की मांग कर रहे Gautam Gambhir; आप भी हो जाएंगे हैरान - Republic Bharat

गौतम गंभीर ने उन दिग्गजो की आलोचना की जो भारत की लीग पर सवाल खड़े कर रहे है। आईपीएल (IPL) को दोष ठहराने वाले क्रिकेटरो को उन्होंने मुंहतोड़ जवाब दिया। साथ ही उन्होंने भारतीय मूल के कोचो को प्राथमिकता देनी की पैरवी की है। गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने आगे बातचीत करते हुए कहा,

“एक जो अच्छी चीज भारतीय क्रिकेट के साथ हुई है, वह यह कि अब भारतीय कोच नैशनल टीम के कोच बनने लगे हैं। मैं एकदम दावे के साथ मानता हूं कि एक भारतीय को भारतीय क्रिकेट टीम का कोच होना चाहिए। हम जिन विदेशी कोचों पर पैसा लगाते हैं, वे यहां आते हैं पैसा बनाते हैं और फिर गायब हो जाते हैं। स्पोर्ट्स में इमोशन्स बहुत जरूरी होते हैं। इंडियन क्रिकेट के लिए वही शख्स इमोशनल हो सकता है, जिसने इंडियन टीम को रिप्रेजेंट किया हो।”

कोचिंग की प्रतिभा बड़ी है- Gautam Gambhir

Ipl 2022 dc vs lsg gautam gambhir angry reaction during the match against delhi capitals | IPL 2022: Gautam Gambhir ने जोश में खोए होश, गाली देते कैमरे में हुए कैद, देखें

भारतीय खिलाड़ी भारत की घरेलू लीग आईपीएल (IPL) के अलावा कोई भी अन्य विदेशी लीग खेलते हुए नजर नहीं आते हैं। इसका कारण बीसीसीआई के वो कड़े नियम हैं जो उन्हें विदेशों में खेलने से रोकते हैं। भारतीय खिलाड़ी और कोचों के पास अपनी प्रतिभा को दर्शाने का आईपीएल एकमात्र विकल्प बचता है। इसको ध्यान में रखते गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा,

 “मैं लखनऊ सुपर जायन्ट्स का मेंटर हूं, एक चीज जो मैं बदलना चाहता हूं कि मैं आईपीएल में सभी इंडियन कोच देखना चाहता हूं। क्योंकि किसी भारतीय को बिग बैश या किसी अन्य टी20 लीग में कोचिंग का मौका नहीं मिलता है। इंडिया क्रिकेट में सुपरपावर है, लेकिन हमारे कोचों को मौका नहीं मिलता है। विदेशी आते हैं और यहां से मोटा पैसा कमाते हैं।”

बता दें कि आईपीएल (IPL) पिछले कुछ से समय से भारतीय युवा खिलाड़ियों के लिए इंटरनेशनल मुकाबले खेलने का एक जरिया बना है। हालांकि, इसके बावजूद भी आईपीएल को लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ता रहता है। भारतीय टीम अगर खराब प्रदर्शन करती है तो पूर्व क्रिकेटर आईपीएल की आलोचना करना शुरू कर देते हैं।

यह भी पढ़े: बांग्लादेश ODI सीरीज में इन 3 खिलाड़ियों के पास है आखिरी मौका, एक गलती से बर्बाद हो जाएगा करियर

One reply on “IPL की आलोचना कर रहे दिग्गजों पर बरसे Gautam Gambhir, लीग को नहीं बल्कि इन्हें ठहराया खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन का दोषी”

Comments are closed.