gautam gambhir

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच जारी 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला फिलहाल मेलबोर्न के मैदान पर जारी है। मैच मे भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों से शानदार प्रदर्शन देखने को मिला। इस मैच में भारतीय क्रिकेट टीम 4 बड़े बदलाव के साथ मैदान पर उतरी। मैच मे साहा को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया है इसको देखते हुए गौतम गंभीर ने टीम मैनेजमेंट पर सवाल उठाए।

साहा को नहीं मिला टीम मे मौका

saha

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच जारी दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने विकेटकीपिंग में बदलाव किया। टीम दूसरे टेस्ट मैच में साहा के बजाय पंत को विकेटकीपर के तौर पर मैदान पर लेकर उतरी। पहले टेस्ट मैच में साहा से अच्छी कीपिंग देखने को मिली थी।

साहा को प्लेइंग इलेवन से बाहर करने के बाद काफी लोगों ने टीम के रणनीति पर सवाल उठाए। इसी क्रम में  भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने भी साहा को बाहर करने को लेकर सवाल खड़े किए। गौतम गंभीर का मानना है कि भारतीय टीम प्रबंधन ने खिलाड़ियों में असुरक्षा पैदा कर दी है।

साहा को मौका नहीं मिलने पर बोले गौतम गंभीर

गौतम गंभीर

गौतम गंभीर ने ऋद्धिमान साहा और ऋषभ पंत के बीच रोटेशन के फैसले को अनुचित बताया और उन्होंने यूट्यूब चैनल स्पोर्ट्स टुडे पर बातचीत करते हुए कहा की-

“यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि साहा ने सीरीज में बस एक टेस्ट खेला और उन्हें बाहर कर दिया गया। अगर पंत दूसरे और तीसरे टेस्ट में अच्छा नहीं खेल सके तो क्या करेंगे, क्या फिर साहा को टीम में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी कथनी से नहीं बल्कि करनी से सुरक्षित महसूस करते हैं”।

गंभीर ने कहा खिलाड़ियों मे असुरक्षा

Gautam Gambhir 2 2

गौतम गंभीर ने दोनों खिलाड़ियों के बारे में बोलते हुए कहा की-

“टीम अस्थिर लग रही है क्योंकि किसी में भी सुरक्षा का भाव नहीं है, पेशेवर खेल में सुरक्षा का भाव काफी जरूरी है। देश के लिए ख्रेलने वाला हर खिलाड़ी प्रतिभाशाली होता है उन्हें सुरक्षा और आश्वासन की जरूरत होती है कि वक्त पड़ने पर प्रबंधन उनका साथ देगा”।

भारत के अलावा कोई भी विकेटकीपरों को रोटेट नहीं करता, पंत और साहा दोनों के साथ काफी समय से नाइंसाफी हो रही है। हालात के अनुरूप उन्हें टीम में चुना जाता है। किसी भी टीम के विकेटकीपरों के साथ ऐसा नहीं किया जाता, ऐसा गेंदबाजों के साथ होता है”