गौतम गंभीर

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज गौतम गंभीर ने हरभजन सिंह और रविचंद्रन अश्विन की तुलना करते हुए अपने विचार रखे हैं। उन्होंने दोनों स्पिन गेंदबाजों की तुलना करते हुए कहा है कि अलग-अलग दौर की तुलना करना काफी मुश्किल काम होता है।

कैसा है दोनों स्पिन गेंदबाजों का प्रदर्शन

गौतम गंभीर

भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर गौतम गंभीर ने अपने हालिया इंटरव्यू में हरभजन सिंह और रविचंद्रन अश्विन की तुलना करते हुए अपने विचार रखें। उन्होंने कहा कि, अलग-अलग दौर की तुलना करना काफी मुश्किल काम होता है। लेकिन फिर भी इस वक्त मुझे ऐसा लगता है कि जो कुछ भी हमने देखा है उसे देखते हुए, मैं हरभजन सिंह को ज्यादा अंक देते हुए बेहतर मानता हूं।

आपको बता दें कि, भारतीय स्टार स्पिनर हरभजन सिंह ने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट और 236 वनडे मैचों में 269 विकेट हासिल किए हैं। हरभजन सिंह उस वक्त भारतीय टीम का हिस्सा थे जब टीम ने 2011 का वर्ल्ड कप जीता था। वह भारत के लिये सबसे ज्यादा  विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं।

साथ ही रविचंद्रन अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज के दौरान 400 टेस्ट विकेट पूरे किए हैं। बता दें कि अश्विन श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद सबसे तेज 400 विकेट लेने वाले दूसरे नंबर के गेंदबाज बन गए हैं। साथ ही अश्विन अनिल कुंबले और हरभजन सिंह के बाद 400 टेस्ट विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय स्पिनर हो गए हैं।

गौतम गंभीर ने भज्जी को दिये ज्यादा नंबर

गौतम गंभीर

भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने हरभजन और अश्विन की तुलना करते हुए अपने विचार रखे हैं। उन्होंने कहा, अलग-अलग दौर की तुलना करना काफी मुश्किल काम होत है, लेकिन हरभजन के दौर के युग के दौरान डीआरएस की अनुपस्थिति और पिचों की प्रकृति को ध्यान में रखते हुए  अश्विन के मुकाबले भज्जी को ज्यादा नंबर देना बेहतर रहेगा।

गौतम गंभीर ने अपने हालिया एक इंटरव्यू के दौरान कहा,

“अलग-अलग दौर की तुलना करना काफी मुश्किल काम होता है। लेकिन इस वक्त जब सबकुछ है तो मुझे ऐसा लगता है, कि मैं अब भी हरभजन सिंह को बेहतर मानता हूं, जब वह अपने चरम पर थे। अश्विन इस समय शायद दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑफ स्पिनर हैं, लेकिन अगर मैं हरभजन सिंह के साथ तुलना करता हूं, जब इस तरह का विकेट नहीं था और ना ही डीआरएस था”।

गौतम गंभीर ने दोनों  गेंदबाजों की तुलना करते हुए कहा कि,

“हरभजन के पास गेंदबाजी में ‘दूसरा’ करने का फायदा था। अश्विन के पास यह विकल्प नहीं है, क्योंकि दूसरा उंगलियों के स्पिनर के लिए नहीं है। इसके बावजूद अश्विन के वैरिएशंस हैं। यह मुश्किल है लेकिन इस वक्त मुझे लगता है कि हरभजन सिंह आज भी बेस्ट हैं। अगर मैं ओवर ऑल पैकेज के दृष्टिकोण से देखूं तो अश्विन संभवत: हरभजन की तुलना में गेंदबाज के दृष्टिकोण से बेहतर पैकेज हैं”।