ganguly gambhir

Gautam Gambhir: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर क्रिकेट से संयास लेने के बाद भी सुर्खियों में रहते हैं. इसकी मुख्य वजह है कि गंभीर ने रिटायरमेंट लेने के बाद कॉमेंट्री करना शुरू कर दिया था. ऐसे में वह आए दिन क्रिकेट से जुड़े मामलों पर अपनी राय देते रहते हैं. इतना ही नहीं बल्कि कितनी बार तो वो खिलाड़ियों की जमकर आलोचना भी करते हैं. वहीं इस बार गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने ड्रीम 11 जैसी फैंटसी गेमिंग साइटों को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा है कि इन पर पूरी तरह से बैन लगा देना चाहिए.

ड्रीम 11 पर भड़के Gautam Gambhir

Gautam Gambhir

आपको बता दें कि आज कल कई भारतीय क्रिकेटर्स और यहां तक कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली तक ड्रीम 11, “माई इलेवन सर्कल” जैसी फैंटसी गेमिंग साइटों का विज्ञापन करते हैं और उन्हें बढ़ावा देते हैं. यहां तक कि विश्व की नंबर-1 T20 लीग आईपीएल में भी ज़्यादातर स्पॉन्सरशिप ड्रीम-11 जैसी गेमिंग साइटों से ही आता है. ऐसे में भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज़ ने इस पूरे मामले को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि,

“अगर बीसीसीआई अध्यक्ष (सौरव गांगुली), ऐसा कर रहे हैं, तो आप अन्य खिलाड़ियों से ऐसा नहीं करने की उम्मीद कर सकते हैं.”

गंभीर (Gautam Gambhir) ने आगे कहा,

“हमें इसे भारत में पूरी तरह से बैन कर देना चाहिए. यह राज्यवार नहीं हो सकता. किसी को भी इसका सपोर्ट करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. आईपीएल में, अधिकांश विज्ञापन और स्पॉन्सरशिप ड्रीम 11 जैसे फैंटसी गेमिंग साइटों से ही आता है. यह बीसीसीआई का सामूहिक निर्णय होना चाहिए कि हमें ऐसा होने देना चाहिए या नहीं.”

“मैं फैंटसी गेम को इंडोर्स कर चुका हूं”

Gautam Gambhir

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने आगे अपने बयान में इस बात का भी ज़िक्र किया कि कभी व्यक्तिगत रूप से उन्हें इस तरह की विज्ञापन के लिए संपर्क नहीं किया गया है. हालांकि उन्होंने इस बात की पुष्टी की है कि वह फैंटसी गेम की मशहूरी कर चुके हैं, लेकिन उन्होंने कभी किसी सट्टेबाज़ी का प्रचार करने वाली किसी भी एप या कंपनी का समर्थन नहीं किया. गौतम गंभीर ने कहा,

“मैं फैंटसी गेम को इंडोर्स कर चुका हूं. मैं बहुत स्पष्ट था. हमें एक समय में यह आशंका थी कि हमें ये करना चाहिए या नहीं. फैंटसी और सट्टेबाज़ी शायद थोड़े सामान हैं, लेकिन बिल्कुल समान नहीं हैं. जब मैंने फैंटसी गेम के मालिक से बात की जिसका मैं समर्थन करता हूं. तो मैंने पूछा कि क्या वे कैश प्राइज में भुगतान करते हैं तो उन्होंने कहा कि नहीं, हम नकद में नहीं केवल उपहार और हैम्पर्स ही देते हैं.”

गौरतलब है कि गौतम गंभीर की बात बिल्कुल जायज है कि ड्रीम 11 जैसी फैंटसी गेमिंग एप को बैन कर देना चाहिए. क्योंकि जाने अनजाने में इसका समाज पर बुरा असर पड़ता है. इतना ही नहीं बल्कि यह सट्टेबाज़ी को भी कहीं ना कहीं बढ़ावा देता है.