गौतम गंभीर-टेस्ट

भारत-इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मुकाबले के साथ ही पिच को लेकर गौतम गंभीर ने बड़ा बयान दिया है.  टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और मौजूदा समय में बीजेपी सांसद से खास बातचीत हुई है, जिसमें उन्होंने मैच को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है. दरअसल तीसरे टेस्ट मैच के दिन ही मोटेरा स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया था. इस मैदान पर खेलने उतरी टीमों को देखकर ऐसा नहीं लगा था की मैच इतनी जल्दी खत्म हो जाएगा, लेकिन नजरा कुछ ऐसा ही देखने को मिला.

पिच को लेकर गौतम गंभीर ने दिया बड़ा बयान

गौतम गंभीर

दरअसल तीसरे टेस्ट मैच को टीम इंडिया ने खेल के दूसरे ही दिन बड़ी आसानी से जीत लिया. 5 दिन का चलने वाला डे-नाइट मुकाबला मजह दो दिन के अंदर खत्म हो गया, जिसे लेकर लगातार चर्चा हो रही है. हालांकि लोग टीम इंडिया की जीत से खुश हैं, लेकिन मुकाबला इतनी जल्दी खत्म होगा इसे लेकर थोड़ा हैरान भी हैं.

इस बात का अंदाजा गौतम गंभीर के बयान से लगाया जा सकता है. हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सांसद से पिच और मैच को लेकर कुछ सवाल पूछे गए, जिसे लेकर उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया दी, और कहीं न कहीं ममुकाबले के जल्द खत्म होने और पिच को लेकर नाखुश नजर आए.

नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को गौतम गंभीर ने 10 में से दिए इतने नंबर

गौतम गंभीर-पिच

दरअसल इंटरव्यू के दौरान गंभीर से सवाल किया गया कि वो, तीसरे टेस्ट मुकाबले और पिच को 10 में से कितने नंबर देना चाहेंगे. इस सवाल के जवाब में पूर्व क्रिकेट ने कहा कि, वो 4/10 मार्क्स पिच को देना चाहेंगे, इसके पीछे का कारण यह है कि, सभी ने मिलकर विकेट निकालने में अपना योगदान दिया. शायद तेज गेंदबाज कुछ भी नहीं थे. विशेष रूप से लाइट्स के नीचे गुलाबी गेंद के साथ तेज गेंदबाज कुछ भी कमाल नहीं दिखा सके, जाहिर है कि स्ट्रोक खेलना बहुत मुश्किल था क्योंकि गेंद बल्ले पर सीधा आ रही थी.

हालांकि आगे उन्होंने टेस्ट मैच में एंटरटेनमेंट की बात करते हुए 6 मार्क्स देने की बात कही. इसके पीछे की वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि, वो इसे सिर्फ 6 ही मार्क्स इसलिए दे रहे हैं, क्योंकि मुकाबला 5 दिन के बजाय दो दिन में ही खत्म हो गया.

4 दिन तक टेस्ट मैच को चलते हुए देखना चाहते थे गौतम गंभीर

गौतम गंभीर

गौतम गंभीर ने कहा कि, वो यह टेस्ट मैच कम से कम 4 दिन तक चलते हुए देखना चाहते थे. हालांकि यह सब विकेटों पर निर्भर करता है. इसके साथ ही गंभीर ने तेज गेंदबाजों के मुकाबले जिस तरह से स्पिनरों ने शानदार गेंदबाजी की, उसकी भी उन्होंने तारीफ की है.

दरअसल तीसरे टेस्ट मैच में भारतीय गेंदबाज इंग्लैंड की टीम पर दोनों ही पारियों में बुरी तरह से हावी रहे. इस दौरान विरोधी टीम के एक भी खिलाड़ी को मौका नहीं मिला कि, वो अच्छी पारी या फिर साझेदारी कर सकें. दोनों ही पारी में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को ऑलआउट कर 10 विकेट से मैच अपने नाम कर लिया.