गौतम गंभीर

एक तरफ इस वक्त पूरा भारत 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाकर खुशियों में सराबोर है। तो वहीं दूसरी ओर सड़क पर उतरे किसान अब हिंसक रूप अपना रहे हैं और देशभर में इसके चलते दंगे भड़क उठे हैं। वह अपनी मांगों को मनवाने के लिए अब पुलिस पर हमला बोल रहे हैं और सड़कों पर लगे बैरियर तोड़कर आगे बढ़ रहे हैं। अब भारत के पूर्व क्रिकेटर व बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने किसानों के लिए शांति संदेश जारी किया है।

गौतम गंभीर ने जारी किया शांति संदेश

महीनों से देशभर के किसान सड़कों पर शांतिपूर्ण रूप से रैली निकाल रहे थे और सरकार के किसान अधिनियम के खिलाफ मोर्चा खोल चुके थे। मगर अब धीरे-धीरे किसानों का ये मोर्चा आक्रामक रूप ले रहा है। सड़कों पर उतरे भारी तादात में किसान पुलिस पर हमला बोल रहे हैं और सड़कों पर लगे बैरिकेट तोड़कर आगे बढ़ रहे हैं। माहौल को गर्म होता देख भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज व बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने अपने ट्विटर हैंडिल से एक पोस्ट शेयर किया है।

जिसके द्वारा वह किसानों को सम्मान और शांति को बनाए रखने का आग्रह कर रहे हैं। गंभीर ने लिखा- हिंसा और बर्बरता हमें कहीं नहीं ले जाएगी। मैं सभी से शांति और सम्मान समझौतों को बनाए रखने का आग्रह करता हूं। आज ऐसी अराजकता का दिन नहीं है!

लाल किले तक पहुंच गए हैं किसान

गौतम गंभीर

भारी संख्या पर सड़कों पर उतरे किसानों में अब गुस्सा उमड़ आया है। एक तरफ जहां आईटीओ पर अभी भी पुलिस और किसानों के बीच संघर्ष हो रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ किसान लालकिले तक पहुंच गए हैं। किसान यहां लाल किले परिसर के पास ट्रैक्टरों पर घूम रहे हैं।

दिल्ली पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बॉर्डर पर हर बड़े-बड़े कंटेनर लगाए और उन्हें रोकने के हर संभव प्रयास किए। लेकिन गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने ऐसे ही कंटेनर को किनारे किया और दिल्ली के लाल किले तक पहुंच गए हैं। आंदोलनकारी किसान लाल किले तक पहुंच चुके हैं और वह अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए अब हिंसा का रास्ता अपना रहे हैं।