878705 eibklppukf 1526040376

आईपीएल 2021 की नीलामी से पहले सभी फ्रेंचाइजियों ने अपनी-अपनी टीम के रिटेन व रिलीज खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी है। एक बार फिर विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने अपनी टीम के कुल 10 खिलाड़ियों को नीलामी का रास्ता दिखाया, जबकि खराब सीजन होने के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स ने सिर्फ 6 खिलाड़ी को रिलीज किया है।

यही है आरसीबी की सबसे बड़ी समस्या

गौतम गंभीर

आईपीएल 2021 के लिए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम एक बार फिर टीम में बदलाव की ओर देख रही है, जबकि पिछले सीजन टीम ने प्ले ऑफ के लिए क्वालिफाई किया था। आरसीबी ने अपकमिंसग सीजन के लिए गुरकीरत सिंह मान, मोईन अली, पार्थिव पटेल (क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले चुके), पवन नेगी, शिवम दुबे, उमेश यादव, आरोन फिंच, क्रिस मौरिस, डेल स्टेन, इसुरू उडाना को रिलीज कर नीलामी का रास्ता दिखाया है। गौतम गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ से बातचीत में कहा,

”आरसीबी के साथ सबसे बड़ी समस्या है- हर साल बड़े बदलाव करना। इससे खिलाड़ियों में असुरक्षा पैदा होती है। सवाल सिर्फ 10 खिलाड़ियों को रिलीज करने का नहीं है। मान लीजिए आप उन्हें रिटेन भी करते तो एक खराब सीजन के बाद उन्हें रिलीज कर दिया जाता। वास्तव में यह कोच और मेंटर की समस्या है।”

क्रिस मॉरिस के रिलीज होने से हैरान गंभीर

क्रिस मॉरिस को पिछले आईपीएल सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 10 करोड़ रुपये में खरीदा था। जहां ऑलराउंडर खिलाड़ी फिटनेस संबंधी समस्याओं के चलते शुरुआती मैचों में नहीं खेल सके। मगर खेले गए 9 मैचों में उन्होंने  किफायती गेंदबाजी करते हुए 11 विकेट निकाले और 34 रन बनाए। मगर फ्रेंचाइजी ने मॉरिस को रिलीज कर नीलामी का रास्ता दिखा दया। गंभीर ने इसपर कहा,

”मॉरिस का एक सीजन खराब रहा, आप उस पर बहुत विश्वास करते थे। अगर आप गौर से देखें तो उनका यह सीजन भी बहुत खराब नहीं रहा। उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। यही बात उमेश यादव पर भी लागू होती है।”

“इसमें कोई संदेह नहीं है, वह सीजन की शुरुआत में अनफिट थे, लेकिन जब वह खेले, तो उन्होंने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। और वे उमेश यादव के साथ एक और सीज़न के लिए रुक सकते थे, जो उन्हें मिल रहे पेसर्स की कमी को देखते हुए दिया गया।”

चेन्नई है समझदार फ्रेंचाइजी

Kedar Jadhav

आईपीएल 2020 के एक खराब सीजन के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने सिर्फ 6 खिलाड़ियों को ही रिलीज किया है। इसमें शेन वॉटसन, मुरली विजय, केदार जाधव, हरभजन सिंह, पीयूष चावला, मोनू सिंह का नाम शामिल रहा। जाधव के लिए पिछला सीजन अच्छा नहीं था, वह सिर्फ  62 रन ही बना सके थे। धोनी की रणनीति की तारीफ करते हुए गंभीर ने कहा,

“उन्होंने केवल कीमत के कारण उसे छोड़ दिया है, जो मुझे लगता है कि एक बहुत ही समझदार चीज है जो सीएसके ने ये किया है।”

बता दें, केदार जाधव को आईपीएल 2018  के ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने 7.80 करोड़ रुपये में खरीदा था।