इंग्लैंड में हुए विश्व कप के बाद भारतीय टीम के कोचिंग स्टाफ को फिर से चुना गया. जिसमें विक्रम राठौड़ के रूप में एक बड़ा बदलाव हुआ. अब कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल 2021 के टी20 विश्व कप तक का हो गया है. लेकिन अब बीसीसीआई एमएसके प्रसाद की जगह नए मुख्य चयनकर्ता की तलाश कर रही है. जिसके लिए इस दिग्गज से बात चल रही है.

मुख्य चयनकर्ता के दौड़ में लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन सबसे आगे

लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता का पद बहुत बड़ा होता है. इस पद पर रहने वाले व्यक्ति को बहुत ज्यादा आलोचना का शिकार करना पडता है. आपको बता दे की चयनकर्ता को बीसीसीआई सैलरी भी कम देती है. जिसके कारण कोई भी दिग्गज खिलाड़ी इस पद पर नहीं बैठना चाहता है.

अब पूर्व भारतीय स्पिनर और कमेंटेटर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन हालाँकि इस पद पर आ सकते हैं. एमएसके प्रसाद का अक्टूबर में कार्यकाल खत्म हो रहा है ऐसे में नए मुख्य चयनकर्ता की रेस में वैसे तो कई खिलाड़ी हैं लेकिन भारत के पूर्व स्पिन गेंदबाज लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन का नाम सबसे आगे चल रहा है.

लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन बनने चाहते हैं मुख्य चयनकर्ता 

भारत की क्रिकेट टीम के लिए 16 वनडे और 9 टेस्ट मैच खेलने का अनुभव रखने वाले तमिलनाडू के पूर्व दिग्गज स्पिन गेंदबाज लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन को भारतीय टीम में एमएसके प्रसाद की जगह पर मुख्य चयनकर्ता बनाया जा सकता है जो इस दौड़ में सबसे फेवरेट माने जा रहे हैं.

एक अखबार की माने तो वैसे बीसीसीआई ने कई अनुभवी पूर्व खिलाड़ियों के साथ मुख्य चयनकर्ता के लिए पद ऑफर करने के बारे में बात की लेकिन वेतन को लेकर मामला बनता नहीं दिख रहा है तो वहीं एल शिवरामाकृष्णन इस पद को लेकर उत्सुक माने जा रहे हैं.

सैलरी भी बढ़ा सकती है बीसीसीआई 

बीसीसीआई राष्ट्रीय मुख्य चयनकर्ता के वेतन को बढ़ाकर 1.5 करोड़ रूपये कर सकता है तो वहीं उनके चार अन्य साथी खिलाड़ियों को 1.2 करोड़ रूपये दिए जाने की बात सामने आ रही है. ऐसे में वेतन कुछ तो बढ़ना तय है. एमएसके प्रसाद के साथ गगन खोड़ा का कार्यकाल भी खत्म हो रहा है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *