Team India 16bb768290c large
Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

विश्व भर के सभी क्रिकेटर्स भारत आकर आईपीएल जैसी विश्व की सबसे बड़ी टी-20 लीग में हिस्सा लेते हैं, और पैसे भी खूब कमाते हैं. वहीं दूसरी तरफ भारतीय खिलाड़ी किसी भी देश की टी20 लीग में हिस्सा नहीं लेते हैं. क्या आपने कभी सोचा है कि इसका क्या कारण है. दरअसल इसका सबसे बड़ा कारण हमारे देश की क्रिकेट बोर्ड है.

मालूम हो कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( बीसीसीआई ) के नियमों के मुताबिक. कोई भी भारतीय क्रिकेटर किसी भी विदेशी लीग में तब तक हिस्सा नहीं ले सकता. जब तक कि उसने आईपीएल समेत क्रिकेट के सभी सभी फॉर्मेट से संन्यास न ले लिया हो. इसके बावजूद हमारे देश के कई दिग्गज खिलाड़ी विदेशों में जाकर लीग क्रिकेट खेलना चाहते हैं. और इस नियम में बदलाव करने के लिए आवाज उठाते हैं.

पूर्व भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान और सुरेश रैना ने हाल ही में कहा था कि बीसीसीआई को भारतीय खिलाड़ियों को विदेशी टी20 लीगों में खेलने की इजाजत देनी चाहिए. आपको बता दें कि रैना और पठान इंस्टाग्राम पर एक लाइव सेशन में हिस्सा ले रहे थे. उन्होंने इस दौरान कहा था कि बीसीसीआई को भारतीय खिलाड़ियों को विदेशी घरेलू लीग में खेलने की इजाजत दी जानी चाहिए.

इसी को ध्यान में रखते हुए आज के इस विशेष लेख में हम आपको उन 4 मुख्य कारणों के बारे में बताएँगे कि आखिर क्यों भारतीय खिलाड़ी विदेशी लीग खेलना चाहते हैं.

4. दुनिया भर के क्रिकेटरों के साथ लगातार खेलने का मिलेगा मौका

kohli de villiers

भारतीय टीम से बाहर चल रहे तथा कई ऐसे घरेलु क्रिकेट के बल्लेबाज हैं. जिन्हें टीम में जगह नहीं मिल पा रही है. ऐसे में यदि वो सभी खिलाड़ी विदेश में जाकर विश्वस्तरीय खिलाड़ियों के साथ क्रिकेट खेलेंगे, तो भारतीय क्रिकेट की ही नीव मजबूत होगी. विश्व के बड़े से बड़े खिलाड़ियों से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा. जो भविष्य में युवा क्रिकेटरों के काम आयेगा.

इससे भारतीय टीम के लिए नए नए विकल्प भी उभरकर आएंगे. जिस प्रकार इंग्लैंड के तूफानी तेज गेंदबाज आईपीएल से नाम कमाकर इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने में कामयाब हुए. उसी तरह कई भारतीय खिलाड़ियों को भी अपनी योग्यता दिखाकर टीम में आने का मौका मिलेगा.

आपको बता दें की युवा जोफ्रा आर्चर आईपीएल में राजस्थान रॉयल की तरफ से लम्बे समय से खेल रहे थे. उनका प्रदर्शन भी लगातार शानदार हो रहा तरह क्योंकि वो विश्व के शानदार बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी कर रहे थे. जिससे उन्हें बहुत कुछ सीखने का भी मौका मिला है. इसी तरह हमारे देश के युवा खिलाड़ी भी विदेशी टी20 लीग में विश्व के बड़े-बड़े क्रिकेटरों के साथ खेलकर भारतीय टीम में इंट्री कर सकते हैं.

Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse