इंडियन प्रीमियर लीग एक ऐसी टी-20 लीग है। जिसने कई खिलाड़ियों को एक बेहतरीन करियर दिया हैं। हालाकिं आईपीएल में कई सारे नए खिलाडियों का चयन किया जाता हैं। लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे होते हैं जोकि एक लंबी पारी यानी की ज्यादा समय तक क्रिकेट के मैदान में टिक पाते हैं और इसी बीच कुछ खिलाड़ी ऐसे आते हैं, जोकि आईपीएल से ही क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम चमकाते हैं। तो चलिए आज हम इसी कड़ी में बात करते हुए कुछ ऐसे खिलाड़ियों के बारें में बताएंगे। जिनका आईपीएल के मैचों में प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा हैं। आइये जानते हैं।

पॉल वलथाटीइस लिस्ट में पहला नाम आता हैं पॉल वलथाटी का। बता दें साल 2011 में एक मैच चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब की टीमों के बीच खेला गया था। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई की टीम ने विरोधी टीम यानी की पंजाब के आगे 189 रन का बड़ा लक्ष्य रखा।

इस लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी पंजाब की टीम के ओपनर खिलाड़ी पॉल वलथाटी ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए महज 63 गेंदों पर 120 रन की तूफानी पारी खेली। इस खिलाड़ी ने अपनी इस पारी के दौरान 19 चौके व 2 शानदार छक्के भी जड़े थे। लेकिन इस मैच के बाद ये खिलाड़ी कभी भी अपना बेहतरीन प्रदर्शन नहीं दे पाया।

मनविंदर बिस्लासाल 2012 में इस खिलाड़ी ने केकेआर की टीम से फ़ाइनल मैच खेलते हुए 48 गेंदों पर 89 रन की बेहतरीन पारी खेली। इतना ही नहीं इस खिलाड़ी की शानदारी पारी की बदौलत केकेआर की टीम ने फ़ाइनल की ट्रॉफी को अपने नाम किया।

इस खिलाड़ी ने फ़ाइनल मैच की पारी के दौरान 8 चौके व 5 छक्के लगाये थे। लेकिन इस पारी को खेलने के बाद यह खिलाड़ी आईपीएल में अभी तक कोई भी अच्छा प्रदर्शन नहीं दे पाया।

केवन कपूर इस खिलाड़ी ने आईपीएल में अपना ड्रीम डेब्यू किया था। आईपीएल 2012 में वेस्टइंडीज के केवन कूपर ने राजस्था की टीम से खेलते हुए महज तीन गेंद पर 11 रन बनाये थे। इतना ही नहीं उन्होंने पंजाब के खिलाफ खेलते हुए 4 ओवर में मात्र 26 रन देकर 4 विकेट भी चटकाए थे।

जिसके बाद इनकी टीम ने बेहतरीन जीत हासिल करते हुए पंजाब की टीम को बुरी तरह से हराया था। इस मैच के लिए इस खिलाड़ी को ‘मैन ऑफ़ द मैच’ के ख़िताब से भी नवाजा गया था। लेकिन एक मैच में बेहतरीन प्रदर्शन देने वाले केतन आगे कभी भी अच्छा प्रदर्शन नहीं दे पाए।

अभिषेक नायर साल 2009 का पहला मुकाबला मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच हुआ था। इस मुकाबले में अभिषेक मुंबई के लिए क तुरूप्प के इक्के की तरह साबित हुए थे। इस दौरान के दौरान अभिषेक ने महज 14 गेंदों पर 35 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी।

बता दें इस मैच के बाद अभिषेक ने काफी सारी सुर्खियां भी बटोरी थी। अभिषेक ने इस मैच में चेन्नई के गेंदबाज एंड्रू फ्लिंटॉफ की गेंद पर लगातार तीन छक्के भी लगायें थे। हालाँकि, अपनी इस पारी के अलावा वह कभी भी कुछ ख़ास प्रदर्शन आईपीएल में नहीं कर पाये।

कामरान खान इस खिलाड़ी ने साल 2009 के आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के साथ खेलते हुए केकेआर के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन दिया था। बता दें इस मैच में राजस्थान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 150 रन बनाये थे। लेकिन वहीँ कामरान की बेहतरीन गेंदबाजी के आगे केकेआर की टीम भी निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 150 रन ही बना पाई जिसके बाद यह मैच टाई हो गया।

इस मुकाबले के दौरान कामरान ने 4 ओवर में 18 रन देकर तीन विकेट भी चटकाए थे। इसके बाद उन्होंने अपनी टीम को सुपर ओवर में भी जीत दिला दी थी।