एकदिवसीय क्रिकेट में कौन किसके उलटफेर का शिकार हो जाए यह कहना बहुत मुश्किल हैं। टी-20 के बहुत से टूर्नामेंट खुल जाने से अब खिलाड़ियों के लिए विश्व के अलग-अलग बल्लेबाजों और गेंदबाजों को समझना आसान हो गया हैं।

IPL 11
Pic credit : Getty images

उदाहरण के तौर पर आप आईपीएल को ही ले ले। आईपीएल जैसे बड़े टूर्नामेंट ने एक ही मंच पर विश्व के सभी बेहतरीन खिलाड़ियों को ला खड़ा किया हैं। जो ऑस्ट्रेलियाई और न्यूजीलैंड के खिलाड़ी सब-कांटिनेंट के मैदानों पर झेल जाया करते थे, वो आज तनिक भी परेशानी में नहीं दिखते।

2019 में होना हैं अगला विश्वकप

Pic credit: Getty images

ऐसे में मई 30, 2019 से इंग्लैंड में होने वाले विश्वकप में कौन किस पर भारी पड़ जाए यह कहना मुश्किल हैं। सभी टीमें इस साल अपने विरोधियों से डट कर मुकाबला कर रही हैं और खुद को विश्वकप के लिए तैयार कर रही हैं। ऐसे में बीते 3 जुलाई से एकदिवसीय की दो टॉप टीमें इंग्लैंड और भारत एक दूसरे को बखूबी परख रही हैं।

नंबर 4 पर बल्लेबाजी को ले परेशान है टीम इंडिया

इस वक्त भारतीय टीम 4 नंबर के बल्लेबाज को ले काफी सोच में पड़ी हैं। यह अलग बात है कि अब भी भारत के पास विश्वकप से पहले इस नंबर पर मौका देने के लिए काफी समय हैं। लेकिन सत्य बात यह भी है कि 2015 विश्वकप के बाद भारत बहुतो को मौका दे चूका हैं और कोई उचित चेहरा अब भी नहीं दिख रहा।

2019 विश्वकप की भारतीय टीम कुछ ऐसी होगी

ऐसे में बीसीसीआई 2019 में संभवतः यह टीम मैदान पर उतार सकती हैं। आइए डालते है उन खिलाड़ियों पर एक नजर-

1. शिखर धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी

इसमें कोई दो राय नहीं की मौजूदा दौर में इनसे बेहतरीन ओपनिंग जोड़ी भारत के पास कोई और नहीं। 2013 में इंग्लैंड में हुए आईसीसी चैंपियंस टॉफी जो भारत ने जीती थी, उसमें धवन भारत के स्टार रहे थे। 2015 विश्वकप में भी भारत के लिए इस जोड़ी ने सबसे अधिक रन बनाए थे।

हालही इंग्लैंड की मेजबानी में चल रहे टी-20 और एकदिवसीय मुकाबलों में रोहित शर्मा ने एक के बाद एक दो बेहतरीन शतक जड़े हैं। जरूर धवन के लिए यह श्रृंखला कुछ खांस न रही हो लेकिन उन्हें शुरुआत अच्छी जरूर मिली थी।

2. कप्तान विराट कोहली

Pic credit: Getty images

विराट की बात कि जाए तो पिछले दोनों विश्वकप में पहले मुकाबले को छोड़ उनका बल्ला शांत रहा हैं। लेकिन पिछले 3  सालों में उनकी बल्लेबाजी और गंभीर हुई हैं। साथ ही उन पर कप्तान की जिम्मेदारी मैदान पर साफ़ दिखाई देती है।

अगर आईसीसी के ही दो और बड़े टूर्नामेंट टी-20 और आईसीसी चैंपियंस टॉफी कि बात की जाए तो विराट का बल्ला रनों की दौड़ में दिखा हैं। हालही इंग्लैंड के विरुद्ध हुए एकदिवसीय और टी-20 श्रृंखला में विराट भारत के लिए सबसे कंसिस्टेंट बल्लेबाज रहे हैं।

3. चौथे, पांचवे और छठे नंबर पर बल्लेबाजी

अम्बाती रायुडू

IPL 2018 Best Asian 11 of the tournament, see who's on top
Pic credit: Getty images

आईपीएल में चेन्नई के लिए शानदार बल्लेबाजी करने वाले अम्बाती रायडू यो-यो टेस्ट में फैल होने के कारण टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे से बहार रहे। लेकिन अब उन्होंने अपना यो-यो टेस्ट पास कर लिया हैं।

Pic credit: Getty images

एकदिवसीय की मात्र 34 पारियों में 1055 रन मरने वाले रायुडू 50.23 का बल्लेबाजी औसत रखते हैं। मिडिल आर्डर से परेशान भारतीय टीम के लिए रायुडू का जिक्र असिस्टेंट कोच संजय बांगर भी कर चुके हैं।

केदार जाधव

Pic credit: Getty images

केदार जाधव ने आईपीएल के पहले मुकाबले में चेन्नई को एक शानदार जीत दिलाई थी। जिसके बाद चोट के कारण वह क्रिकेट मैदान से दूर हैं। केदार की सबसे अच्छी बात यह है कि वह टीम में बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी में भी कमाल कर जाते हैं।

Pic credit: Getty images

उनका लौ आर्म एक्शन बड़े-बड़े बल्लेबाजों को मुश्किल में डाल देता हैं। ऐसे में मिडिल आर्डर में बल्लेबाजी और गेंदबाजी में एक ऑप्शन के तौर पर केदार विश्वकप 2019 में भारतीय टीम में जगह पा सकते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी

Pic credit: Getty images

भारत के पूर्व कप्तान और विकेट कीपर बल्लेबाज धोनी टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। एक मात्र कप्तान जिन्होंने भारत के लिए तीनों बड़े आईसीसी किताब जीते हैं। धोनी विश्व के सबसे महान फिनिशर में से एक हैं।

Pic credit: Getty images

वो अलग बात हैं कि इंग्लैंड दौरे पर उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। लेकिन जहां विराट को जरुरत हो वहां धोनी काफी मददगार साबित हो सकते हैं।

4. हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या

LONDON, ENGLAND – JUNE 18 : Hardik Pandya of India after being run out during the ICC Champions Trophy final match between India and Pakistan at the Kia Oval cricket ground on June 18, 2017 in London, England. (Photo by Philip Brown/Getty Images)

हार्दिक अपनी गेंदबाजी से ज्यादा आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई पारी उनकी बेहतरीन पारिओं में से एक हैं।

Pic credit:Getty images

हार्दिक में वो काबिलियत है कि डेथ ओवर्स में अगर इनका बल्ला चला तो स्कोर देखने लायक हो सकता हैं। हार्दिक को विश्वकप से पहले अपनी गेंदबाजी पर ध्यान देना होगा।

5. स्पिनर्स

युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव

Pic credit:Getty images

पिछले कुछ सालों में जिस तरह का भरोसा सेलेक्टर्स ने रिस्ट लेग स्पिनर्स पर दिखाया है. वह देख यहीं लगता हैं कि विश्वकप 2019 रिस्ट लेग स्पिनर्स के नाम रहेगा। इंग्लैंड दौरे पर कुलदीप ने सबसे अधिक विकेट ले कर अपनी दावेदारी तो मजबूत कर दी हैं।

Pic credit: Getty images

वहीं युजवेंद्र चहल विराट के स्पेशल वन माने जाते हैं और इंग्लैंड दौरे पर काफी किफायती गेंदबाजी भी उन्होंने की हैं।

6. तेज गेंदबाज

भुवनेश्वर कुमार

Pic credit: Getty images

भुवी मौजूदा दौर में भारतीय टीम के लिए सबसे अनुभवी स्विंग गेंदबाज हैं। ऐसे में उनका भारतीय टीम में खेलना तय है बसर्ते वह चोटिल न रहे। इंग्लैंड में भुवी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा हैं और सेलेक्टर्स इस अनुभवी गेंदबाज को जरूर मौका देंगे।

जसप्रीत बुमराह

पिछले कुछ सालों में बुमराह टीम इंडिया के सबसे बड़े गेंदबाजी हथियार साबित हुए हैं। इन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध एक टी-20 मुकाबले के आखिरी ओवर में आठ रन रोक सबको चौंका दिया था। अभी चोट के कारण बुमराह टीम से बाहर हैं।

Pic credit: Getty images

साउथ अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया के लिए इन्होंने काफी बेहतरीन गेंदबाजी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here