माधव आप्टे

भारतीय क्रिकेट को एक बड़ा झटका लगा है. जिसका सबसे बड़ा कारण की एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर का आज सुबह निधन हो गया. पूर्व भारतीय बल्लेबाज माधव आप्टे का 86 वर्ष के उम्र में मुंबई के एक हॉस्पिटल में निधन हो गया. माधव आप्टे ने भारतीय टीम के लिए शुरूआती दौर में क्रिकेट खेला था. माधव आप्टे दायें हाथ के बल्लेबाज थे.

पूर्व भारतीय खिलाड़ी माधव आप्टे का हुआ निधन 

आज सुबह भारतीय क्रिकेट बोर्ड और उसके प्रशंसको के लिए अच्छी खबर नहीं आई. पूर्व भारतीय बल्लेबाज माधव आप्टे का आज सुबह ब्रिच कैंडी हॉस्पिटल में निधन हो गया. वो अब 86 वर्ष के हो चुके थे. माधव जी का परिवार भी खेल से जुड़ा हुआ था.

उनके भाई अरविन्द माधव ने भी भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला है. जबकि उनके बेटे वामन माधव ने भारत के लिए स्क्वाश खेला है. जबकि वो कभी-कभी क्रिकेट भी खेलते थे. माधव ने अपना पर्दापण पाकिस्तान के खिलाफ 1952 में किया था. पाकिस्तान के अलावा वो वेस्टइंडीज के खिलाफ भी खेले.

शानदार रिकॉर्ड रहा माधव आप्टे का 

भारत की टीम के लिए माधव जी ने अपने पहली सीरीज में 30, 10*और 42 रनों की पारी खेली. जिसके कारण उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम में चुना गया. जहाँ पर उन्होंने अपनी प्रतिभा का खुलकर प्रदर्शन किया. पांच लगातार मैचों में सलामी बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने भारतीय टीम के लिए 64, 52, 64, 9, 0, 163*, 30, 30, 15 और 33 रन बनाये.

उस सीरीज में उन्होंने 51.11 के औसत से 460 रन बनाये. उसके बाद भी उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया और दोबारा वो टीम का हिस्सा नहीं बन पाए. उन्होंने अपने करियर में 7 टेस्ट मैच खेले. जिसमें उन्होंने 49.27 के औसत से 542 रन बनाये. जिसमें 1 शतक और 3 अर्द्धधतक शामिल था.

घरेलू क्रिकेट के स्टार थे माधव जी 

घरेलू क्रिकेट में उन्होंने 67 मैच में 3336 रन बनाये और अपनी कप्तानी में ही मुंबई को रणजी चैंपियन भी बनाया. माधव एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने डीबी देवधर और सचिन तेंदुलकर दोनों के साथ खेला है. आप्टे ने अपना करियर बतौर लेग-स्पिनर शुरू किया था.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *