Eoin Morgan
Eoin Morgan

इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) ने हाल ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा था. उनके संन्यास का कारण खराब फॉर्म बताया गया था. वैसे तो क्रिकेट के शिखर पर बने रहना हर खिलाड़ी के लिए मुश्किल होता है. इसका उदारहण भारतीय टीम के बल्लेबाज विराट कोहली भी हैं. पिछले दो-ढ़ाई साल से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे हैं. लेकिन, इसका मतलब ये तो नहीं कि संन्यास ले लिया जाए. हालांकि मोर्गन के मामले में कहानी कुछ ऐसी ही है और ये कहा जा सकता है कि संन्यास लेने में उन्होंने थोड़ी जल्दबाजी कर दी. खैर वो उनका निजी फैसला है, लेकिन मोर्गन एक बार फिर द हंड्रेड लीग में बल्ले से कहर मचाते हुए नजर आए.

Eoin Morgan ने द हंड्रेड लीग में खेली तूफानी पारी

 

इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) संन्यास लेने के बाद पहली बार द हंड्रेड लीग में नजर आए. उन्होंने अपनी दमदार बल्लेबाजी से कहर मचा दिया. उन्होंने लंदन स्प्रिट और ओवल इंन्विंसिबल के मैच के दौरान सिर्फ 29 गेंदों पर ही 49 रनों की विस्फोटक पारी खेली. मोर्गन की इस पारी में 3 छक्के और 5 चौके देखने को मिले. पूर्व अंग्रेजी कप्तान की इस इस तूफानी पारी को देखकर फैंस को पुराने दिनों की याद आ गई.

मॉर्गन की टीम ने 6 विकेट पर 171 रन बनाए. वहीं इस लक्ष्य के जवाब में ओवल इन्विंसिबल को जीत के लिए 172 रन बनाने थे. जिसमें वो सफल नहीं हो पाई और  इन्विंसिबल की टीम को 3 रनों से हार का सामना करना पड़ा. वहीं कप्तान मॉर्गन की विस्फोटक पारी के दम पर लंदन स्प्रिट ने इस मुकाबले को अपने नाम कर लिया.

इन हालातों के चलते Eoin Morgan ने लिया था संन्यास

Former England Captain - Eoin Morgan

इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) इंग्‍लैंड के दिग्गज खिलाड़ी हैं. उन्होंने टीम के लिए कई मैच जिताऊ पारियां खेली हैं, लेकिन जब किसी खिलाड़ी का बुरा दौर शुरू होता है तो उनका क्रिकेट का स्तर गिरता चला जाता है. ऐसा ही कुछ इस खिलाड़ी के साथ हुआ. मॉर्गन को IPL 2022 में मौका नहीं मिला था. वो टी20 वर्ल्ड कप 2022 तक इंग्लैंड के कप्तान बने रहना चाहते थे. लेकिन, बीते कुछ महीनों में हालात उनके पक्ष में नहीं रहे. जिसकी वजह से उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा.

मोर्गन पर खराब फॉर्म के चलते दबाव बढ़ता ही चला जा रहा था. उन्हें टीम से बाहर किए जाने की मांग ने जोर पकड़ लिया था. मॉर्गन ने आखिरी बार नीदरलैंड्स में खेली गई वनडे सीरीज में कप्तानी की. इस सीरीज में इंग्लैंड ने क्लीन स्वीप तो किया, लेकिन इस सीरीज मे उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा. जिसके बाद उन्होंने संन्यास लेकर अपने फैंस को चौंका दिया.