9l7486mg england

इयोन मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड ने 47 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार विश्व कप ट्रॉफी जीती। इसके बाद मोर्गन को अब ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप की भी कप्तानी करने के लिए तैयार हैं।

असल में विश्व कप 2019 के दौरान मोर्गन को पीठ में परेशानी हुई थी जिसके कारण निश्चित नहीं था की वह आगामी टी 20 टूर्नामेंट खेल पाएंगे। हाालंकि अब बोर्ड ने ऐलान कर दिया है की ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप की कप्तानी मोर्गन की ही है।

मोर्गन सीमित ओवर क्रिकेट और रूट रहेंगे टेस्ट के कप्तान e1d0f 15642153565616 800

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने शुक्रवार को अपने राष्ट्रीय कॉन्ट्रैक्ट का ऐलान कर दिया। जिसके बाद यह साफ कर दिया गया है कि अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप की कप्तानी इयोन मोर्गन को सौंपी गई है। साथ ही टेस्ट के कप्तान जो रूट भी अपनी कप्तानी जारी रखेंगे।

हाल ही में हुई एशेज ट्रॉफी के बाद इंग्लैंड के कोच ट्रेविस बेलिस का कार्यकाल समाप्त हो गया है। एशले जाइल्स ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया ने भले ही एशेज बरकरार रखी लेकिन हमारी टीम ने आखिरी मैच में शानदार प्रदर्शन कर 5 मैचों की सीरीज को 2-2 से ड्रॉ कराने में सफलता हासिल की। जाइल्स ने स्काई स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा,

“मुझे नहीं लगता कि जो रूट की कप्तानी पर सवाल उठाने की जरूरत है। मुझे लगता है कि अब जो रूट के लिए सबसे जरूरी है कि वह सीमित व टेस्ट फॉर्मेट के बीच सही तरह से संतुलन बनाए रखें। साथ ही जब नए कोच की नियुक्ति हो तो उनके साथ बैठकर आगे की योजना बनाएं। अगर मैं जो की जगह होता तो अब प्लानिंग करना शुरू कर देता कि ऑस्ट्रेलिया से एशेज वापस कैसे लानी है।”

नए कोच की तलाश हो चुकी है शुरू

गिल्स ने आगे नए कोच की नियुक्ति के बारे में बात करते हुए कहा,

“हमने नए कोच की तलाश शुरू कर दी है। हम दुनिया के अलग-अलग उम्मीदवारों की दिलचस्पी को ध्यान में रख रहे हैं। उम्मीद है कि अगले हफ्ते के आखिर तक हम कैंडिडेट्स को शॉर्टलिस्ट कर इंटरव्यूज शुरू कर देंगे।“

“यकीन मानिए यह एक रोमांचक प्रक्रिया है क्योंकि मैं पहली बार कोच की नियुक्ति करने वाला हूं और इसमें जरा भी चूक नहीं करनी है। मुझे लगता है कि सभी फॉर्मेट के लिए एक ही कोच सही है। जिस तरह हमें अपने खिलाड़ियों के वर्कलोड को मैनेज करना होगा उसी तरह कोच के वर्क लोड पर भी ध्यान देना होगा।“

“अगर हम एक मुख्य कोच और तीन सहायकों के साथ काम करते हैं, तो उन्हें समय की आवश्यकता होती है, लेकिन यह दूसरों के लिए कई तरीकों से नेतृत्व करने का अवसर हो सकता है। लेकिन मुझे लगता है कि एक मजबूत कोच होना बेहद जरूरी है।“

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *