भारत बनाम इंलैंड

पांच फरवरी से चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में इंग्लैंड बनाम भारत टेस्ट सीरीज़ का पहला मैच होने जा रहा है। इस सीरीज़ के साथ ही भारत में एक बार फिर से कोविड के लगभग साल भर बाद इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरूआत हो रही है।

इस सीरीज़ के शुरू होने से पहले ही भारतीय क्रिकेट टीम अपने रंग में दिखाई दे रही है क्योंकि हाल ही में भारत ने ऑस्ट्रेलिया की सरजमी पर उसे टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया है। उम्मीद यही लगाई जा रही है कि भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पिचों पर भी ऑस्ट्रेलिया जैसा ही प्रदर्शन दोहराएगी। लेकिन चेन्नई में भारत बनाम इंग्लैंड का इतिहास क्या कहांनी बयां करता है, चलिये जानते है क्या है चेन्नई में भारत का इंग्लैड के खिलाफ क्रिकेट इतिहास का गुणा गणित।

भारत का इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में टेस्ट रिकॉर्ड

भारतीय टीम-इंग्लैंड सीरीज

1934 में डगलस जर्डिन की अगुवाई इंग्लैंड के खिलाफ 202 रन से हार के साथ भारत ने चेन्नई के इसी स्थान पर अपनी टेस्ट क्रिकेट की यात्रा शुरू की थी और यह वही स्थान भी है जहां भारत ने 1952 में पहली बार इंग्लैंड टीम पर अपनी जीत दर्ज की थी। यह एक बड़ी जीत थी क्योंकि इसमें भारत ने इंग्लैंड को एक पारी और 8 रन से हराया था।

उस मैच में वीनू मांकड़ ने 12 विकेट झटके थे। जबकि भारत के लिए पॉली उमरीगर और पंकज रॉय ने शतकीय पारी खेली थी।

यहां खेले गए दोनों टीमों के बीच अखिरी टेस्ट में भारत ने एक विशाल पारी और 75 रन से जीत दर्ज की थी। जिसमें करुण नायर ने एक तिहरा शतक लगाया था और साथ में केएल राहुल ने भी 199 रन जड़े थे। दूसरी तरफ रवींद्र जडेजा ने सात विकेट झटक कर शानदार योगदान दिया था।

चेन्नई में भारतीय क्रिकेट टीम को इंग्लैंड के विरुद्ध थोड़ा लाभ हासिल है, क्योंकि यहां खेले गए 9 मैचों में से भारतीय टीम ने इंग्लैंड के विरुध 5 मैचों में जीत हासिल की है जबकि इंग्लैंड ने सिर्फ 3 ही मैच जीते हैं और एक मैच ड्रा रहा है।

कैसे हैं चेन्नई में भारत के टेस्ट में रिकॉर्ड

इंग्लैंड टीम-भारतीय टीम

चेन्नई में खेले गए सभी टेस्ट मैचों में भारतीय टीम का रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है क्योंकि यहां खेले गए 32 टेस्ट मुकाबलों में से 14 मैचों में जीत हासिल की है। जबकि भारत ने यहां सिर्फ 6 टेस्ट मुकाबलों में ही मात खाई है। भारतीय टीम यहां 11 टेस्ट मुकाबलें ड्रा करवाने भी सफल रही है।

चेन्नई में भारत और इंग्लैंड का सर्वाधिक और सबसे कम स्कोर

इंग्लैंड बनाम श्रीलंका

चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में भारतीय टीम ने सर्वाधिक स्कोर दिसंबर 2016 में 7 विकेट खोकर 759 रन रहा था। जबकि 1977 में भारतीय टीम का इस स्टेडिम पर 83 रन निम्नतम स्कोर है। इसी स्टेडियम पर इंग्लैंड का सर्वाधिक स्कोर 7 विकेट पर 652 रन है जो उसने 1985 में बनाया था। इंग्लैंड का निम्मतम स्कोर 159 रन है जो उसने 1973 में बनाया था।

चेन्नई में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी

sunil gavaskar

सुनील गावस्कर 1018 रन बनाने के साथ यहां सबसे ज्यादा रन बनाने वाले  बल्लेबाज हैं, और 1000 रन बनाने वाले भी वो एक मात्र खिलाड़ी हैं। उन्होंने इस स्टेडियम पर 12 टेस्ट मैचों में 59.88 की औसत के साथ तीन शतक के अलावा कई अर्धशतक भी लागाए हैं, नाबाद 236 रन गावस्कर का यहां सर्वश्रेष्ठ स्कोर है।

दूसरी तरफ माइक गैटिंग ने चेन्नई में इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक स्कोर किया है। गैटिंग ने तीन टेस्ट मैच में 238 रन 59.50 की औसत से बनाए हैं जिसमे 207 रन गैटिंग का सर्वाधिक स्कोर है। हांलांकि इस मैदान पर किसी एक मैच में विरेंद्र सहवाग का 319 रन का सर्वाधिक स्कोर है जो उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2008 में बनाया था।

जबकि चेन्नई के इस मैदान पर अनिल कुबंले सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज है, कुबले ने 8 टेस्ट मैचों में 48 विकेट झटके हैं जबकि इस मैदान पर किसी एक मैच में कुबले नें सर्वाधिक 7 विकेट झटके हैं। दूसरी तरफ इंग्लैंड के लिए बाएं हाथ के स्पिनर हेडली वेरिटी और तेज गेंदबाज नील फोस्टर ने टेस्ट में 11-11 विकेट लिए हैं।