भारतीय फैंस टीम इंडिया के मौजूदा फॉर्म को देखते हुए भारत के इंग्लैंड दौरे का इंतेज़ार कर रहे थे। 3 जुलाई 2018 से भारत का यह दौरा शुरू हो गया है। छोटे फॉरमेट से बढ़ते हुए इस दौरे का अंत क्रिकेट के सबसे बड़े फॉरमेट टेस्ट श्रृंखला से होना है। 3 जुलाई से शुरू हुए टी-20 श्रृंखला का अंत रविवार 8 जुलाई 2018 को हो गया है। इस श्रृंखला में भारत ने इंग्लैंड को 2-1 से पटकनी दे दी है।

Pic credit: Getty images

पहले मुकबाले में कुलदीप यादव और के एल राहुल ने भारत को आसान जीत दिलाई थी। जिसके बाद एलेक्स हैल्स के शानदार पर्फोमेंस के बदौलत इंग्लैंड ने इस श्रृंखला का दूसरा मुकाबला जीत सीरीज 1-1 से बराबरी पर ला दी थी। लेकिन हिट मैन रोहित शर्मा के आक्रामक सतक ने इंग्लैंड से ये सीरीज जीत ली। भारत ने 2-1 से यह सीरीज अपने नाम कर लिया। लेकिन आगामी 12 जुलाई से होने वाली एकदिवसीय श्रृंखला कुछ खिलाड़ियों के लिए बहुत अहम रोल अदा करने वाली है। आईए नजर डालते है इन खिलाड़ियों पर।

#1. जो रुट

Pic credit: Getty images

एक दिवसीय श्रृंखला 12 जुलाई से शुरू होने को है और इस फॉरमेट के बेहतरीन चार खिलाड़ियों में एक नाम जो रुट का भी है। बाकी तीन नाम है विराट कोहली, केन विल्लिमसन और स्टीव स्मिथ। इन तीनों में से विराट हर फॉरमेट में रन मारते नजर आते है। विल्लिमसन का बल्ला टी-20 और एकदिवसीय में खुल रन उगलता है ,तो वहीं स्मिथ भी एकदिवसीय और टी-20 में रन मारने में कामयाब रहते है। लेकिन रुट टी-20 के ऐसे मुकाम पर है जहां उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है।

Pic credit: Getty images

एकदिवसीय श्रृंखला में 49.82 की औसत से रन बनाने के बाद भी उनकी जगह नहीं दिख रही। एलेक्स हैल्स का लय में होना और बेन स्टोक्स की वापसी रुट के लिए बाहर जाने का रास्ता तय करती दिख रही है। आक्रामक बल्लेबाजों से भरी इंग्लैंड टीम के पास सिर्फ मॉर्गन और रुट ही मिडिल आर्डर में उपलब्ध है। ऐसे में इंग्लैंड शायद रुट को मौका दे सकती है। अगर इंग्लैंड पारी लड़खड़ाती है तो रुट इंग्लैंड को उभार सकते है।

#2. बेन स्टोक्स

stokes
Pic credit: skysports

बेन स्टोक्स ने पिछले एक साल में अपने क्रिकेट कैरियर में आने वाली हर दशा देख ली है। साल 2017 में आईपीएल के मोस्ट वैल्युएबल खिलाड़ी होने के बाद, साल 2018 में बिल्कुल फ्लॉप शो करना उनके लिए अच्छी खबर नहीं थी। इंग्लैंड टीम से उन्हें अपनी क्रिकेट मैदान के बाहर की हरकतों के कारण भी हटाया गया। गलत समय मे उन्हें चोट भी लगी और वो टीम से बाहर रहे।

बटलर- स्टोक्स
Pic credit: Getty images

उनकी चोट के कारण एलेक्स हैल्स को मॉर्गन ने मिडिल आर्डर में खिलाया और हैल्स ने कमाल ही कर दिया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार परफॉर्म कर हैल्स ने सेलेक्टर्स को मुश्किल में डाल दिया। मोइन अली और राशीद की स्पिन जोड़ी ने पिछले दौरे पर भी भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें खड़ी की थी। तो अगर इन दोनों को खिला लिया जाए तो स्टोक्स सिर्फ रुट की जगह टीम में खेलते दिख रहे है। स्टोक्स जरूर एक मौका ढूंढ रहे होंगे जहां वो अपने कैरियर का चौका मार सके।

#3. उमेश यादव

Pic credit: Getty images

उमेश यादव ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत जिम्बावे के विरुद्ध 28 मई 2010 को किया। 28 सितंबर 2017 को ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध यादव ने अपना आखिरी एकदिवसीय खेला था। 2010 से 2017 के बीच में यादव ने कुल 71 मुकाबले खेले है।

IPL 2018 Best Asian 11 of the tournament, see who's on top
Credit: Hindustan Times

इस आईपीएल अपने अच्छे प्रदर्शन के कारण उन्हें एकदिवसीय और टी-20 के लिए टीम में वापस बुलाया गया। इंग्लैंड के खिलाफ टी- 20 में बुमराह ने अच्छा खेल दिखाया। इंग्लैंड दौरे की टी-20 श्रृंखला में चोट के कारण बुमराह टीम से बाहर हो गए और अब वो एकदिवसीय श्रृंखला से भी बाहर है। इनकी जगह उमेश को टीम में मौका मिल सकता है और सिद्धार्थ कौल और शरदल ठाकुर को बाहर बैठना पड़ सकता है। अगर उमेश यहा अच्छा खेल दिखाते है तो आने वाले 2019 विश्वकप में उनकी जगह पक्की हो सकती है।

#4. कुलदीप यादव

Kolkata: India’s bowler Kuldeep Yadav celebrates his hat trick against Australia during 2nd ODI cricket match at Eden Garden in Kolkata on Thursday. PTI Photo by Ashok Bhaumik (PTI9_21_2017_000201B) *** Local Caption ***

कुलदीप यादव ने पहले टी-20 में पांच विकेट ले सबको हैरान कर दिया था। लेकिन अगला ही मुकाबला उनके लिए काफी हानिकारक रहा और उन्हें तीसरे टी 20 मुकबाले में टीम से बाहर रखा गया। एक ही हफ्ते में कुलदीप की कहानी कुछ बदल सी गई है। टेस्ट श्रृंखला से पहले ऐसा भी हो सकता है कि भारतीय मैनेजमेंट अपने इस मिस्टरी बॉलर को छुपा कर रखना चाहे।

Pic credit: Getty images

इन सब बातों को हटा दिया जाए तो अपने दूसरे टी-20 मुकाबले के प्रदर्शन को भुला अपनी एक छाप छोड़ने को कुलदीप बेताब हो रहे होंगे। बल्लेबाजों से मार खाने के बाद अब अपने बदले को तैयार होंगे कुलदीप यादव। इस एकदिवसीय श्रृंखला में अच्छा खेल वो टेस्ट श्रृंखला में अपनी जगह पक्का करना जरूर चाहते होंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *