how to watch the 2019 cricket world cup england cricket team 0

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने अगले महीने होने वाले पाकिस्तान दौरे को रद्द कर दिया था। इसके बाद इसपर काफी चर्चा हुई, PCB व पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने निराशा व्यक्त की। मगर अब इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने दावा किया है कि ECB ने इस दौरे को रद्द करने से पहले अपने खिलाड़ियों या प्लेयर्स एसोसिएशन से इस बारे में बात नहीं की थी। जबकि इंग्लिश बोर्ड ने पाकिस्तान दौरे को रद्द करते हुए खिलाड़ियों की मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य का हवाला दिया था।

खिलाड़ियों से बिना पूछे उठा गया कदम

ECB

एक ओर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने ये कहते हुए पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया कि उनकी टीम के खिलाड़ियों की शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है। मगर अब चौकाने वाली बात निकलकर सामने आई है कि ECB ने इस दौरे को रद्द करने के बारे में अपने खिलाड़ियों से कोई बात नहीं की थी। ब्रिटिश अखबार डेली मेल के मुताबिक,

“बीते रविवार को ईसीबी की बैठक हुई थी और उसी दिन खिलाड़ियों को पाकिस्तान दौरा रद्द करने की जानकारी दी थी। तब यह खबर आई थी कि खिलाड़ी पाकिस्तान दौरे पर नहीं जाना चाहते हैं। लेकिन अब इंग्लिश प्लेयर्स एसोसिएशन ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है।”

टीईपीपी ने स्पोर्ट्स मेल से बातचीत में कहा,

“किसी भी स्तर पर ईसीबी ने खिलाड़ियों या प्लेयर्स एसोसिएशन से यह नहीं पूछा कि क्या पाकिस्तान तय शेड्यूल के मुताबिक ही होना चाहिए और खिलाड़ी इस दौरे के लिए तैयार हैं भी या नहीं।”

प्लेयर्स एसोसिएशन ने की स्थिति साफ

टी20 विश्व कप 2021 से पहले ECB को अपनी वुमेन्स व मेन्स टीम को पाकिस्तान दौरे पर भेजना था। लेकिन न्यूजीलैंड द्वारा सीरीज को रद्द करने के फैसले के बाद ही इंग्लिश बोर्ड ने पाकिस्तान दौरे को रद्द कर दिया था। मगर अब प्लेयर्स एसोसिएशन का साफ कहना है कि हमने किसी भी समय ईसीबी से यह बात नहीं हम पाकिस्तान दौरे पर जाने के लिए तैयार नहीं हैं।

बीते रविवार को पाकिस्तान दौरे को लेकर ECB की बोर्ड मीटिंग हुई थी। उसी दिन दोपहर को हमें यह बताया गया कि पाकिस्तान का दौरा कैंसिल कर दिया गया है। हमसे किसी ने राय नहीं ली और ना ही हमारा पक्ष जानने की कोशिश की। हमें इस फैसले में बिल्कुल शामिल नहीं किया गया था।

ECB ने जारी किया था बयान

england

ECB की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस साल टी20 वर्ल्ड कप काे देखते हुए वह प्रैक्टिस मैच खेलने के लिए सहमत हुए थे। ECB वहां जाने को लेकर खिलाड़ियों की चिंता को समझ रहा है। ECB ने बयान में कहा गया,

‘हमारे लिए खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य प्राथमिकता में शामिल है। मौजूदा स्थिति में यह और महत्वपूर्ण है। हमें मालूम है कि वहां जाने को लेकर अपनी चिंताएं हैं। वहां जाने से खिलाड़ियों पर दबाव बढ़ेगा। खिलाड़ी पहले से कोरोना के कारण परेशान हैं। इन परिस्थितियों में टी20 वर्ल्ड कप से पहले यह तैयारी के लिए अच्छी स्थिति नहीं होगी। वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करना हमारी प्राथमिकता में शामिल है।’