क्रिकेट के मैदान पर सचिन तेंदुलकर ने अपने बल्ले से कई रिकॉर्ड बनाने और कई रिकॉर्ड तोड़े हैं. इस बार क्रिकेट के मैदान के बाहर के भी रिकॉर्ड तोड़ दिया है. भारतीय समाज में चल रही रूढ़िवादिता को तोड़ने में अपना योगदान दिया है. भारतीय समाज के रूढ़िवादिता से हट कर दो भारतीय लड़कियों ने शेविंग का काम शुरू किया है, जिसके बाद सचिन तेंदुलकर ने उनके सैलून में जा कर शेविंग कराया.

सचिन तेंदुलकर ने शेव करने के बाद इन्सटाग्राम पर फोटो भी पोस्ट किया.

मैंने अपना रिकॉर्ड तोड़ डाला : सचिन तेंदुलकर 

 

सभी को पता होगा की शेविंग का काम पुरुषों का होता है, लेकिन उत्तर प्रदेश की दो लड़कियों ने इस बात को गलत साबित कर दिया है. इन दोनों लड़कियों से सचिन तेंदुलकर ने शेविंग करने के बाद इन्स्टाग्राम पर फोटो पोस्ट करते हुए उन्होंने लिखा,

“आप शायद इसे नहीं जानते, लेकिन मैंने कभी भी किसी से शेव नहीं बनवायी. आज ये रिकार्ड टूट गया. इन महिला हज्जाम से मिलना सम्मान की बात है.”

शुरू में काफी परेशानियाँ उठानी पड़ी 

उत्तर प्रदेश की बनवारी टोला गांव की नेहा और ज्योति ने अपने पिता के बीमार होने के बाद 2014 में उनकी जिम्मेदारी संभालने का फैसला किया. हालांकि नेहा और ज्योति के लिए ये सफर आसान नहीं था क्योंकि शुरू में लोग महिला हज्जाम से दाढ़ी नहीं बनवाते या बाल नहीं कटवाते थे.

विज्ञापन के द्वारा चर्चित हुई दोनों बहनें 

जिलेट इण्डिया के विज्ञापन ने इन दोनों बहनों के प्रेणादायक कहानी को सामने लाया. इसके बाद इस विज्ञापन को लोग काफी पसंद कर रहें हैं.इस विज्ञापन को यु ट्यूब पर 1.60 करोड़ लोगों ने देखा है. इसके बाद ही सचिन तेंदुलकर ने इन दोनों से दाढ़ी बनवाने का फैसला किया. सचिन ने इन दोनों को जिलेट स्कालरशिप भी प्रदान की जिनमें उनकी शैक्षिक और प्रोफेशनल जरूरतों को पूरा किया जायेगा.

 

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।