वेस्टइंडीज की सीरीज में भले ही भारतीय टीम ने जीत दर्ज की हो लेकिन इसके बाद केएल राहुल का टेस्ट प्रदर्शन देख सब उनकी आलोचना करने उतर आये है. इसके बाद से अब टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज को लेकर कई सुझाव आ रहे हैं. ऐसे में कई दिग्गज पूर्व खिलाडियों ने रोहित शर्मा के नाम की सिफारिश की है लेकिन अब दिलीप वेंगसकर और किरण मोरे ने भी इस कारण से टेस्ट क्रिकेट में रोहित को बतौर सलामी बल्लेबाज उतारने की सिफारिश की है.

एमएसके प्रसाद ने रोहित शर्मा को लेकर किया खुलासा

रोहित शर्मा

भारत ने हाल ही में दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला में वेस्टइंडीज को बड़े पैमाने पर हराया है, लेकिन चयनकर्ता आगामी तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच के लिए सलामी बल्लेबाज का चयन करना चाहते हैं.

यह टेस्ट मुकाबला 2 अक्टूबर से शुरू होगा, मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कल कहा वे रोहित शर्मा को वेस्टइंडीज टेस्ट श्रृंखला के दौरान केएल राहुल की खराब फॉर्म को देखते हुए प्रोटियाज के खिलाफ सलामी बल्लेबाज के रूप में आजमा सकते थे, जिसमें रोहित बाहर बैठे थे.

दिलीप वेंगसकर का रोहित को समर्थन 

वेंगसरकर

वेंगसरकर को टेस्ट ओपनर के रूप में रोहित की सफलता पर कोई संदेह नहीं था. उन्हें ओपनिंग पोजीशन या नंबर 3 या 4 में बल्लेबाजी करने से वास्तव में बहुत फर्क नहीं पड़ता, यह सिर्फ एक सोच है. वेंगसकर को लगता है कि यह अच्छी बात है कि रोहित ओपनिंग करेंगे.

दिलीप वेंगसकर ने कहा कि,

“वह एक विश्व स्तरीय खिलाड़ी है और उसने इस बात को साबित किया है, हमे उसको केवल एक मंच देने की जरुरत है.उनको विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ [140] की पारी के दौरान पूरी दुनिया को देखा था. वह एक बड़े मैच के खिलाड़ी हैं, इसलिए मुझे यकीन है कि वह सफल होंगे.”

रोहित के फॉर्म में होने के बावजूद, वेंगसरकर इस बात से नाराज हैं कि वेस्टइंडीज श्रृंखला के लिए मुंबई के बल्लेबाज को टेस्ट मैच में नहीं चुना गया था.

“रोहित जैसे खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन से बाहर करना बहुत ही आश्चर्यजनक था. वह एक विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं. क्या टीम प्रबंधन उनको ना लेता अगर हम इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम से खेल रहे होते तो. विश्व कप में पांच शतक लगाने के बाद कप और इतने शानदार फॉर्म में होने के कारण उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर रखना अनुचित था. हमें नहीं पता कि उन्हें क्यों टीम में नहीं लिया गया था.”

दिनेश लाड को रोहित शर्मा पर है भरोसा 

इस बीच, रोहित के बचपन के कोच दिनेश लाड को भरोसा है कि रोहित टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सफल होंगे. लाड ने कहा कि,

“उनके पास टेस्ट सलामी बल्लेबाज बनने की तकनीक और स्वभाव है. मैं केवल उन्हें सलाह देना चाहता हूं कि वह सावधानी से शुरुआत करें और अपनी पारी की शुरुआत में बहुत अधिक शॉट न खेलें.”

पूर्व कप्तान एमएस धोनी की वजह से रोहित के सीमित ओवरों के करियर में बदलाव ने उन्हें पारी को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया. क्या इसी तरह का कदम उनके टेस्ट करियर को भी जिंदा कर देगा?

वेंगसरकर ने जोर देकर कहा,

“वह उच्च श्रेणी के खिलाड़ी हैं. वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पारी का आगाज कर सकते हैं और काफी रन बना सकते हैं.”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *