क्रिकेट

क्रिकेट की साफ-सुथरी छवि वाले खेल को कभी-कभी कुछ खिलाड़ी स्पॉट फिक्सिंग, मैच फिक्सिंग करके इस खेल पर दाग लगाते हैं। अब श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज दिलहारा लोकुहेटिगे को आईसीसी ने फिक्सिंग का दोषी करार दिया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस गेंदबाज ने अपने क्रिकेट करियर में 520 विकेट झटके हैं।

दिलहारा लोकुहेटिगे है फिक्सिंग के दोषी

दिलहारा लोकुहेटिगे

फिक्सिंग के मामलो में इंटरनेशनल क्रिकेट बोर्ड बेहद सख्ती से कार्रवाई करती है। श्रीलंका के पूर्व तेज गेंदबाज दिलहारा लोकुहेटिगे को गुरूवार को स्वतंत्र पंचाट की सुनवाई के बाद आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के अंतर्गत तीन नियमों के उल्लघंन का दोषी करार दिया है।

दरअसल, ये मामला लगभग 3 साल पुराना है, तेज गेंदबाज पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की भ्रष्टाचार रोधी संस्था के अंतर्गत नवंबर 2019 में संयुक्त अरब अमीरात में 2017 में हुए टी20 टूर्नामेंट के दौरान मैच फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप लगाये गये थे। श्रीलंकाई टीम ने इस टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। भ्रष्टाचार रोधी संस्था के तीन नियमों के उल्लघंन के लिये भी आरोपित किया गया था और इसकी कार्रवाई चल रही है।

लोकुहेटिगे पर लगाया बैन

श्रीलंका के लिए नौ वनडे और दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके लोकुहेटिगे को स्वतंत्र भ्रष्टाचार रोधी पंचाट के समक्ष सुनवाई में सभी आरोपों का दोषी पाया गया था। लोकुहेटिगे को आईसीसी के अनुच्छेद 2.1.1, 2.1.4 और 2.4.4 के अंतर्गत दोषी पाया गया। आईसीसी की विज्ञप्ति के अनुसार,

‘तीन सदस्यीय पंचाट ने पाया कि आईसीसी के पास लोकुहेटिगे के खिलाफ आरोप लाने का अधिकार है और वे मामले पर फैसला करने के लिये एकमत थे।’

धोनी-युवराज का ले चुके विकेट

आईसीसी

श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज दिलहारा लोकुहेटिगे ने 2005 में भारत के खिलाफ डेब्यू किया था। लोकुहेटिगे ने अपने पहले ही मैच में धोनी और युवराज सिंह के विकेट लेकर हर किसी को हैरान कर दिया था। जी हां, दिलहारा ने धोनी को बोल्ड किया था और युवराज को कैच आउट कराया था।

इस बेहद रोमांचक मुकाबले में श्रीलंका ने भारत को 3 विकेट से हार का स्वाद चखाया था। लोकुहेटिगे का इंटरनेशनल करियर बेहद छोटा रहा लेकिन वो श्रीलंका के घरेलू क्रिकेट के सबसे अच्छे ऑलराउंडर में से एक थे। लोकुहेटिगे ने लिस्ट ए, फर्स्ट क्लास और टी20 क्रिकेट में कुल 520 विकेट झटके हैं।