MS Dhoni Getty

भारत-द.अफ्रीका के बीच छह मैचों की सीरीज का तीसरा मैच बुधवार को केपटाउन में खेला जाएगा। लगातार दो मैचों में मिली जीत की लय को भारतीय टीम बरकरार रखना चाहती है। इसी उम्मीद के साथ टीम आज केपटाउन में उतरेगी। टीम की नजर सीरीज में जीत की हैट्रिल लगाने पर होगी। इसके लिए टीम इंडिया ने खास प्लान तैयार किया है। वहीं मेजबान टीम ने भी स्पिनरों का काट खोज रही है। जिसके लिए अफ्रीका टीम खास प्लान के साथ नेट पर जमकर प्रॉक्टिस भी किया।

विकेट के पीछे बढ़ेगी धोनी की भूमिका

dhoni 3

तीसरे वनडे मैच में विकेट के पीछे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका बढ़ने वाली है। दोनों मैचों में धोनी को भले बी बल्लेबाजी करने का कोई खास मौका न मिला हो,लेकिन वो इस मैच में विकेट के पीछे से भी मेजबान टीम को धूल चटाते नजर आएंगे। बता दें कि पिछले मैच में भी धोनी ने विकेट के पीछे से इशारों-इशारों में शानदार गेंदबाजी की थी। धोनी की इस मंत्र के आगे पूरी अफ्रीका टीम धराशयी हो गई थी। लेकिन इस बार का प्लान कुछ ज्यादा ही खास है। जिस वजह से विकेट के पीछे धोनी को ज्यादा चहल कदमी बढ़ाने होगी।

स्पिनरों के लिए अफ्रीका ने बनाया प्लान

saf

अफ्रीकी बल्लेबाजों तीसरे मैच में भारतीय स्पिनरों को मात देने के मूड में हैं। इसके लिए उन्होंने एक नई रणनीति बनाई है।  अफ्रीकी बल्लेबाजों ने इंडियन स्पिनरों का सामना करने के लिए नेट पर स्पिन का खूब प्रॉक्टिस कर रहे हैं। इसका खुलासा खुद बल्लेबाजी कोच डेल ने किया है। उनका कहना है कि बल्लेबाजी की खास रणनीति यह  है कि गेंद को स्पिन होने से पहले ही उस पर शॉट लगाने की है।

ये है धोनी का जीत के लिए मास्टर प्लान

download 3

अफ्रीकी बल्लेबाजों ने स्पिनरों से बचने के लिए गेंद को स्पिन होने से पहले ही शॉट लगाने की रणनीति बनाई है। इसका मतलब है कि उन्हें क्रीच छोड़कर भारतीय बल्लेबाजों का सामना करना पड़ेगा। ऐसे में धोनी विकेट के पीछे से बल्लेबाजों को अपना निशाना बना सकते है। क्योंकि धोनी की विकेट कीपिंग में चूक के लिए कोई जीवनदान नहीं है। इसके लिए धोनी ने नेट पर काफी प्रॉक्टिस भी की है।

पानी की कमी का मिल सकेगा फायदा

20 36 131216530dhoni ll

इन दिनों दक्षिण अफ्रीका भीषण पानी की कमी से जूझ रहा है। ऐसे में पिच के रख-रखाव के लिए वहां पर कम पानी का इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसे में पिच में कम नहीं होने के कारण पिच में कई सारे बदलाव होते है। बल्लेबाजों को गेंद को समझने और रन बनाने के लिए अपनी सक्रियता और बढ़ानी पड़ती है। इस दौरान अगर बल्लेबाज से थोड़ी सी भी चूक हुई तो उसका धोनी के हाथ शिकार होना निश्चित है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *