harbhajan singh

आईपीएल 2021 के दूसरे चरण के पहले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस पर 20 रनों की प्रभावशाली जीत दर्ज कर बेहतरीन प्रदर्शन किया। मैच में कप्तान Mahendra Singh Dhoni की सूझबूझ के बारे झलकियां सभी को दिख गई हैं। बता दें कि धोनी को आगामी टी20 विश्वकप के लिए एक मार्गदर्शक के रूप में चुना गया है और उनके वर्तमान अंदाज को देखते हुए कहा जा सकता है कि टीम इंडिया के लिए प्रबल उम्मीद है। ऐसे में कोलकाता नाइट राइडर्स के स्पिनर हरभजन सिंह ने हाल ही में आईपीएल के यूएई चरण में एमएस धोनी के बारे में बात की है।

आईपीएल जीतने की कोशिश में हैं Dhoni : हरभजन सिंह

harbhajan singh dhoni IPL

हाल ही में Mahendra Singh Dhoni को टी20 विश्व कप 2021 के लिए टीम इंडिया के मेंटर के रूप में नियुक्त किया गया है। इस खबर ने क्रिकेट के दिग्गजों और प्रशंसकों को खुश कर दिया क्योंकि सभी धोनी को फिर से भारतीय ड्रेसिंग रूम में वापस देखने के लिए उत्सुक हैं। ऐसे में कोलकाता नाईट राइडर्स के स्पिनर हरभजन सिंह को लगता है कि सीएसके के कप्तान इस समय उनकी मार्गदर्शक की भूमिका में नहीं होंगे और उनकी पूरी ऊर्जा टूर्नामेंट जीतने की ओर लगी हुई है।

अभी तक को ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि यह धोनी का अंतिम आईपीएल हो सकता है, ऐसे में हरभजन का मानना है कि धोनी इस लीग को जीतने की हर मुमकिन कोशिश करेंगे। एक यूट्यूब चैनल से बात करते समय उन्होंने कहा,

” मुझे नहीं लगता कि एमएस धोनी इस समय मेंटर भूमिका में होंगे। वह इस समय कप्तान की भूमिका में हैं और मेरा मानना ​​है कि उनका पूरा ध्यान अपनी टीम के लिए चैंपियनशिप जीतने पर ही होगा।”

चेन्नई हमेशा से ही मजबूत टीम रही है : हरभजन

Chennai super kings IPL dhoni

Mahendra Singh dhoni की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स दूसरे चरण का पहला मैच जीतकर अंक तालिका में पहले स्थान पर कब्जा जमा लिया है। वहीं आईपीएल 2020 में वो लीग चरण से ही बाहर होने के साथ ही सातवें स्थान पर थे। टूर्नामेंट के पहले चरण में धोनी की अगुवाई में टीम ने अपना दबदबा कायम रखा। साथ ही हरभजन सिंह का कहना है कि चेन्नई की टीम का सामना करना हमेशा से ही चुनौतीपूर्ण होता है।

हरभजन सिंह का कहना है कि चेन्नई सुपर किंग्स के पास हमेशा से ही बेहतरीन और अनुभवी खिलाड़ी मौजूद हैं। साथ ही उनका यह भी कहना है कि

“Dhoni की टीम का सामना करना हमेशा एक चुनौती होती है क्योंकि उनके पास हमेशा ही बहुत अच्छी टीम है। जैसा कि सीएसके अक्सर कई अनुभवी खिलाड़ियों के साथ मैदान में उतरता है, जिससे हमेशा उनके खिलाफ एक करीबी लड़ाई हो जाती है। अगर केकेआर को सीएसके और मुंबई को हराना है तो हमें चैंपियन की तरह खेलना होगा।”